Friday, October 11, 2019

मैरीकॉम के बाद मंजू रानी, जमुना और लोवलिना ने भी सुनिश्चित किया पदक

पटना(10 अक्टूबर):  दुनिया की सबसे सफल बॉक्सर मैरीकॉम ने इतिहास रच दिया है। 51 किलोग्राम वर्ग में महिला वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। सेमीफाइनल में पहुंचकर मैरी कॉम आठवां पदक पक्का कर लिया जबकि पहली बार खेल रही मंजू रानी (48 किलो), जमुना बोरो (54 किलो) और लोवलिना बोरगोहैन (69 किलो) ने भी सेमीफाइनल में जगह बनाते हुए पदक सुनिश्चित कर लिए। लोवलिना बोरगोहैन ने भी पिछली वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

तीसरी वरियता खिलाड़ी मैरी कॉम ने क्वाटर फाइनल में कोलंबिया की वालेंशिया विक्टोरिया को 5-0 से हरा कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। वहीं रानी ने शीर्ष वरीयता प्राप्त और पिछले बार की कांस्य पदक विजेता दक्षिण कोरिया की किम हयांग मि को 4-1 से मात दी। वहीं असम राइफल्स की बोरो ने जर्मनी की उर्सुला गोटलोब को इसी अंतर से हराया।

सेमीफाइनल में शनिवार को मैरीकॉम का सामना दूसरी वरीयता प्राप्त तुर्की की बुसेनाज साकिरोग्लू से होगा जो यूरोपीय चैम्पियनशिप और यूरोपीय खेलों की स्वर्ण पदक विजेता है। उन्होंने चीन की केइ जोंग्जू को क्वार्टर फाइनल में हराया। रानी का सामना अब थाईलैंड की सी रकसात से होगा, जिसने पांचवीं वरीयता प्राप्त यूलियानोवा असेनोवा से होगा। वहीं बोरो शीर्ष वरीयता प्राप्त एशियाई खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता हुआंग सियाओ वेन से होगा।

मैरीकोम ने टूर्नामेंट की सफलतम मुक्केबाज होने का अपना ही रिकार्ड तोड़ा। पदकों की संख्या के आधार पर वह पुरूष और महिला दोनों में सबसे सफल है। पुरुष वर्ग में क्यूबा के फेलिक्स सावोन ने सर्वाधिक सात पदक जीते हैं। मैरीकॉम के नाम अभी तक छह स्वर्ण और एक रजत पदक है, लेकिन वह 51 किलोवर्ग में पहली बार पदक जीतेगी।

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment