Thursday, November 28, 2019

अयोध्या में मस्जिद की जगह ‘राम’ नाम से कुछ और बनाना चाहता है शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने एक ओर फैसला लिया है। बोर्ड ने कहा है कि, अगर सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अयोध्या में 5 एकड़ जमीन नहीं लेना चाहेगा तो हम उस 5 एकड़ जमीन पर जनहित में एक अस्पताल के निर्माण का प्लान है, जो राम के नाम पर होगा। बोर्ड के अनुसार यह अस्पताल पूरी तरह समाज के हर वर्गों को समर्पित होगा।

बुधवार को हुए शिया वक्फ बोर्ड की बैठक में यह फैसला हुआ। बैठक में चेयरमैन वसीम रिजवी ने अन्य सदस्यों को सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद के मुकदमे में शिया वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज किए जाने की जानकारी दी।

पुनर्विचार याचिका दायर नहीं करेगा बोर्ड

इस बैठक में शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के 7 सदस्यों में से 5 सदस्य शामिल हुए। अध्यक्ष वसीम रिजवी के अलावा मौलाना आजिम हुसैन, वली हैदर एडवोकेट, अशफाक हुसैन उर्फ जिया और सुश्री अफशां जैदी एडवोकेट शामिल हैं। बैठक में सभी की सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि बोर्ड द्वारा पुनर्विचार याचिका दायर नहीं की जाएगी।

बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने बताया कि बोर्ड का मानना है कि जो भी फैसला सुप्रीम कोर्ट ने किया है वह अंतिम है और राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में किसी भी तरह की पुनर्विचार याचिका दायर करने से देश के हालात खराब हो सकते हैं।

ं:

शादी के बाद अदिति सिंहकी बढ़ी मुश्किलें, पार्टी सदस्यता खत्म करने की उठी मांग

अयोध्या फैसला: AIMPLB दाखिल करेगा पुनर्विचार याचिका!

अयोध्या फैसला: पुनर्विचार याचिका दाखिल करने पर सुन्नी वक्फ बोर्ड ने लिया अहम फैसला…!

स्पष्ट आवाज़ पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

अयोध्या में मस्जिद की जगह &#8216राम&#8217 नाम से कुछ और बनाना चाहता है शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment