Tuesday, November 5, 2019

इस सख्स ने Iphone के पीछे गंवा दी अपनी जान?

पच्शिम बंगाल से एक अजीबो-गरीब घटना सामने आया है। अपनी आईफोन बचने के चक्कर में खुद की जान गवा दी। बता दें कि चलती ट्रेंन से आईफोन चुराकर भाग रहें चोर का पीछा करने में जमशेदपुर निवासी (इलेक्ट्रिकल इंजिनियर) की जान चली गई। वहीं सौरभ घोष संबलपुर एक्&#x200dसप्रेस में सफर कर रहे थे, यह घटना उलूबेरिया स्&#x200dटेशन की है। ट्रेन से गिरे सौरभ को नजदीकी अस्&#x200dपताल ले जाया जाता की इससे पहले ही उनकी मृत्&#x200dयु हो गई।

: दिल्ली की हवा में जहर घोल रहा पंजाब का पराली, कैप्टन अमरिंदर ने लिखा केंद्र को पत्र

आपको बता दें कि शनिवार देर रात को सौरभ अपने घर जमशेदपुर जा रहा था। वह ट्रेन कंपार्टमेंट के आखिर में खिड़की के पास वाली सीट पर बैठकर अपने फोन से बात कर रहा था। वहीं रात के करीब 11 बजे ट्रेन उलूबेरिया स्&#x200dटेशन पर रुकी, जैसे ही ट्रेन प्&#x200dलैटफॉर्म से रवाना हुई की एक शख्&#x200dस जो पहले से ही ट्रेन में था उसने उनका नया आईफोन छीना और ट्रेन से बाहर छलांग लगा दी। सौरभ कुछ पल तो भौंचक्&#x200dके से रहे फिर वह भी चोर के पीछे ट्रेन से कूद गए। वह प्&#x200dलैटफॉर्म पर गिरे, उनका सिर पत्&#x200dथरों से टकराया और वह बेहोश हो गए। स्&#x200dथानीय लोगों और जीआरपी ने उन्&#x200dहें उलूबेरिया अस्&#x200dपताल पहुंचाने की कोशिश की लेकिन रास्&#x200dते में ही सौरभ ने दम तोड़ दी।

कम उम्र में पाई थी कामयाबी-

सौरभ जमशेदपुर के रहने वाले थे और हावड़ा में एक फैक्&#x200dट्री में नौकरी करते थे, वह इसी सिलसिले में कोलकाता आए थे। अपनी प्रफेशनल जीवन में सौरभ काफी कामयाब थे, कम समय में ही वे करियर में काफी ऊपर पहुंच चुके थे और फैक्&#x200dट्री में 2 यूनिटों के इन्&#x200dचार्ज थे।

15 दिन पहले लिया था नया आईफोन

उन्&#x200dहोंने मुकुंदपुर में एक फ्लैट लिया था और वही रहते थे। उन्&#x200dहें गैजट से बहुत लगाव था, महज पंद्रह दिन पहले ही उन्&#x200dहोंने नया आईफोन लिया था जिसे लेकर वह बहुत उत्&#x200dसाहित थे। सौरभ के पिता संजय घोष बताते हैं, &#8216वह घंटों फोन के फीचर देखता रहता था, वह उसे बहुत प्रिय था।&#8217

: निर्भया कांड: फांसी से बचने के लिए निर्भया के कातिल फिर खटखटाएंगे SC का दरवाजा

वहीं सौरभ के परिवारवाले रविवार सुबह हावड़ा पहुंच गए और दोपहर में सौरभ का अंतिम संस्&#x200dकार किया गया। हावड़ा पुलिस के एक अफसर ने बताया कि, &#8216सौरभ के पिता भी इंजिनियर हैं। उन्&#x200dहोंने सौरभ का फोन खोजने को कहा है क्&#x200dयोंकि वह सौरभ की आखिरी निशानी है।&#8217

: महाराष्ट्र: शिवसेना का बीजेपी पर हमला, ‘राष्ट्रपति तुम्हारी जेब में हैं क्या?

एसआरपी खडगपुर देबर्षि दत्&#x200dता का कहना है, &#8216इस फोन को वापस लाने में सौरभ की जान चली गई इसलिए वह इस परिवार के लिए बहुत संवेदनशील मुद्दा है। दूसरे फोन की तुलना में आईफोन को ट्रेस करना आसान है। हम उसे ट्रेस करके खोजने की कोशिश कर रहे हैं।&#8217

स्पष्ट आवाज़ पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

इस सख्स ने Iphone के पीछे गंवा दी अपनी जान? Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment