Thursday, November 7, 2019

KPL स्पॉट फिक्सिंग  मामले में 2 और खिलाड़ी गिरफ्तार, धीमी बैटिंग के लिए मिले थे 20 लाख रुपए 

क्रिकेट में मैच फिक्सिंग नई बात नहीं है. ये काला खेल लंबे समय से चल रहा है. आपकी जानकारी के लिए बता दे हाल ही में बांग्लादेश के दिग्गज स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी शाकिब अल हसन पर मैच फिक्सिंग की पेशकश की बात छिपाने के लिए दो साल का प्रतिबंध भी आईसीसी ने लगाया है. इतना ही नहीं, कर्नाटक प्रीमियर लीग  में भी फिक्सिंग को लेकर कई चौंकाने वाले बड़े खुलासे हुए हैं. इसी के तहत अब क्रिकेटरों और बुकी के बीच संवाद की नई जानकारी सामने आई है.

बताते चले अब कर्नाटक प्रीमियर लीग  में स्पॉट  फिक्सिंग  को लेकर एक बड़ा मामला सामने आया है. फिक्सिंग स्कैंडल के मामले में दो खिलाड़ियों को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है. जांच के दौरान बेल्लारी टीम के कप्तान सीएम गौतम. और बहरार काजी .को गिरफ्तार किया गया है.  केपीएल 2019 के फाइनल के दौरान हुबली और बेल्लारी टीम के बीच स्पॉट फिक्सिंग हुई थी. उन्हें धीमी बैटिंग के लिए 20 लाख रुपये दिए गए थे. सीएम गौतम रणजी और आईपीएल खेल चुके हैं..

बता दें कि कर्नाटक प्रीमियर लीग में मैच फिक्सिंग पर एक के बाद एक गिरफ्तारी हुई है.  इससे पहले केपीएल से जुड़ी एक क्रिकेट टीम के कोच को भी गिरफ्तार किया जा चुका है. बेंगलुरु से भारतीय क्रिकेटर निशांत सिंह शेखावत को सट्टेबाजी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. उनकी गिरफ्तारी कर्नाटक प्रीमियर लीग मैच फिक्सिंग मामले में हुई थी.

No comments:

Post a Comment