Wednesday, January 15, 2020

Indian Army Day 2020 : देश में आज मनाया जा रहा है 72वां सेना दिवस

हर साल की तरह इस बार भी भारत देश में आज 72वां Indian Army Day (सेना दिवस) मनाया जा रहा है। सेना दिवस (Army Day 2020) के अवसर पर पूरा देश थल सेना की वीरता, अदम्य साहस, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है।

कम लोग ही जानते हैं कि हर साल आज ही के दिन यानि की 15 जनवरी को ही सेना दिवस क्यों मनाया जाता है। यह दिन सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व अन्य कार्यक्रमों के साथ नई दिल्ली व सभी सेना मुख्यालयों में मनाया जाता है। दरअसल यह दिन हर साल 15 जनवरी को फील्ड मार्शल के एम करिअप्पा के सम्मान में मनाया जाता है।

साल 1949 में आज ही के दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर की जगह तत्कालीन लेफ्टिनेंट जनरल के एम करिअप्पा मे ली थी। करियप्पा ने 1947 में भारत-पाक के बीच हुए युद्ध में भारतीय सेना की कमान संभाली थी। बता दें कि आजादी के बाद देश में कई प्रशासनिक समस्याएं पैदा होने लगी और फिर स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सेना को आगे आना पड़ा। भारतीय सेना के अध्यक्ष तब भी ब्रिटिश मूल के ही हुआ करते थे। 15 जनवरी 1949 को फील्ड मार्शल के एम करिअप्पा स्वतंत्र भारत के पहले भारतीय सेना प्रमुख बने थे। फ्रांसिस बुचर भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ थे। उस समय सेना में लगभग 2 लाख सैनिक थे। के एम करिअप्पा के सेना प्रमुख बनाए जाने के बाद से ही हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाने लगा।

करिअप्पा पहले ऐसे ऑफिसर थे जिन्हें फील्ड मार्शल की रैंक दी गई थी। आर्मी डे पर पूरा देश थल सेना के अदम्य साहस, उनकी वीरता, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है। उन्होने सन् 1947 के भारत-पाक युद्ध में पश्चिमी सीमा पर भारतीय सेना का नेतृत्व किया था। के एम करिअप्पा साल 1953 में रिटायर हुए थे और 1993 में 94 साल की आयु में उनका निधन हुआ था।

    बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर की बहन और अमिताभ बच्चन की बेटी श्वेता बच्चन की सास ऋतु नंदा ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। ऋषि कपूर की…

    No comments:

    Post a Comment