Sunday, March 1, 2020

शाह के दौरे के खिलाफ कांग्रेस, माकपा ने कोलकाता में रैलियां की

कोलकाता : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के एक दिन के दौरे के खिलाफ पश्चिम बंगाल की विपक्षी पार्टियों, कांग्रेस और माकपा ने कोलकाता के विभिन्न हिस्सों में रैलियां निकालीं। रविवार सुबह शाह के यहां पहुंचते ही काला झंडा और सीएए विरोधी पोस्टर लिए सैकड़ों वामपंथी और कांग्रेसी प्रदर्शनकारियों ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के बाहर प्रदर्शन किया और ‘वापस जाओ’ के नारे लगाए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एस्प्लेनेड इलाके में द‍ोपहर में पुलिसकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच हलकी-फुल्की झड़प हुई थी जब प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ कर शहीद मीनार ग्राउंड में प्रवेश करने की कोशिश की। शाह इस मैदान में एक रैली करने वाले हैं। उन्होंने कहा, “हालांकि किसी को भी घटना के संबंध में गिरफ्तार नहीं किया गया लेकिन स्थिति नियंत्रण से बाहर होने पर पुलिस सख्ती से काम करेगी।”
मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा)के विधायक दल के नेता सुजान चक्रवर्ती ने दक्षिणी कोलकाता के संतोषपुर में बड़ी रैली की अगुवाई की जबकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बेकबगान से पार्क सर्कस तक विरोध मार्च निकाला और केंद्रीय गृह मंत्री का पुतला जलाया। माकपा से संबद्ध एसएफआई और डीवाईएफआई ने श्यामबाजार, गरियाहाट, बेहाला, कइखली और एंटाली इलाकों में रैलियां निकालीं।

चक्रवर्ती ने कहा, “जनवरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के वक्त भी कोलकाता में ‘वापस जाओ’ के नारे लगे थे। हम यहां शाह की रैली नहीं होने देंगे। उनका (शाह) यहां स्वागत नहीं है। इन दोनों नेताओं के हाथ गुजरात दंगों में लोगों के खून से सने हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय दिल्ली में भी हिंसा के लिए जिम्मेदार है। माकपा नेता ने शाह की रैली के लिए अनुमति देने को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार पर निशाना साधा। चक्रवर्ती ने कहा, “मोदी और ममता सरकार के बीच की जो समझ है उसी कारण से रैली के आयोजन के लिए अनुमति ऐसे समय में भी दी गई जब 12वीं कक्षा की परीक्षाएं सिर पर हैं और लाउडस्पीकरों का शोरगुल प्रतिबंधित है। यह शाह के प्रति राज्य सरकार की कृतज्ञता है।” शाह की रैली में, प्रदेश भाजपा के नेता संसद में संशोधित नागरिकता कानून को पारित कराने के लिए उन्हें सम्मानित करेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा भी जन सभा में उपस्थित रहेंगे। कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “ हमने शहर में केंद्रीय मंत्री के दौरे के लिए किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए सभी तरह के एहतियाती कदम उठा रहे हैं। सभी अहम स्थानों पर अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती होगी।”केंद्रीय गृह मंत्री ने राजरहाट में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के नये भवन का उद्घाटन भी किया और नड्डा के साथ ही प्रदेश भाजपा नेतृत्व के साथ बंद दरवाजे के पीछे बैठकें करेंगे। शाह दक्षिणी कोलकाता में कालीघाट मंदिर भी जाएंगे।

No comments:

Post a Comment