Thursday, May 14, 2020

क्रूर है हिज्बुल की आतंकी टीम का सैन्य सलाहकार, कश्मीर में फैला रखी है दहशत!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

हिज्बुल मुजाहिदीन के प्रमुख आतंकी सैयद सलाहुद्दीन द्वारा कश्मीर में आतंकी समूह का नेतृत्व करने के लिए नियंत्रण रेखा से तीन आतंकवादियों के चुनने के फैसले ने सुरक्षा एजेंसियों को घाटी में पुन: तालाशी के लिए मजबूर किया है। सलाहुद्दीन का खास आतंकी रियाज नाइकू पिछले सप्ताह कश्मीर पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स के संयुक्त अभियान में मारा गया। 32 वर्षीय नाइकू को पुलवामाके एक गांव में एक गुप्त बंकर से खोजा गया था।

इसके बाद सलाहुद्दीन ने गाजी हैदर उर्फ ​​सैफुल्लाह मीर को कश्मीर में हिज्बुल का स्वयंभू मुख्य कमांडर चुना। 55 वर्षीय अशरफ मौलवी के लिए ज़फरुल इस्लाम मुख्य सैन्य सलाहकार माना जाता है। वह गाजी हैदर के डिप्टी होगा और अबू तारिक भाई उसका तथाकथित प्रमुख सैन्य सलाहकार होगा।
जम्मू और कश्मीर के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि तीन में से अबू तारिक भाई हत्याओं में सबसे क्रूर रहे है। हमें लगता है कि अबू तारिक भाई वह हिज्बुल आतंकवादी है जिसे हम अनंतनाग के जुबैर वानी के नाम से जानते हैं। उन्होंने बताया कि हिजबुल नेतृत्व के तीनों आतंकी दक्षिण कश्मीर जिलों के अनंतनाग, पुलवामा और शोपियां में सक्रिय हैं।

गाजी हैदर उर्फ ​​सैफुल्लाह मीर से पहले हिज्बुल का चेहरा रहा नाइकू अपने सहयोगी आदिल अहमद के साथ जम्मू-कश्मीर पुलिस और 21 राष्ट्रीय राइफल्स के सैनिकों के संयुक्त ऑपरेशन में मारा गया था। नाइकू अपने गांव में एक गुप्त बंकर में छिपा था। सैफुल्लाह मीर को मुसाहिब और &#8216डॉक्टर सैफ&#8217 के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि वह पुलिस मुठभेड़ों में घायल हुए आतंकवादियों का इलाज कर चुका है। मीर दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के मलंगपोरा से 12वीं पास है, हालांकि रियाज नाइकू ग्रेजुएट था। सैफुल्लाह मीर ने स्कूल के बाद व्यावसायिक प्रशिक्षण का विकल्प चुना।

गाजी हैदर उर्फ ​​सैफुल्लाह मीर ने पुलवामा में सरकार द्वारा संचालित आईटीआई में बायो मेडिकल कोर्स किया और इसके बाद एक तकनीशियन के रूप में श्रीनगर के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान में नौकरी पा ली। मीर ने तीन साल तक नौकरी की और फिर आतंक की राह पर चल पड़ा।

सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि सैफुल्लाह को &#8216ए श्रेणी&#8217 के आतंकवादी के रूप में वर्गीकृत किया गया था और वह ज्यादातर पुलवामा, कुलगाम और शोपियां के दक्षिण कश्मीर जिलों में सक्रिय था। उन्होंने यह भी कहा कि मीर रियाज नाइकू के नेटवर्क से पूरी तरह परिचित है और ऑर्चर्ड मालिकों से धन जुटाने और दक्षिण कश्मीर में अफीम की अवैध खेती से धन प्राप्त करने के लिए गतिविधियां करता है।

Dailyhunt

Disclaimer: This story is auto-aggregated a computer program and has not been created or edited Dailyhunt. Publisher: Pardaphash Hindi

No comments:

Post a Comment