Sunday, May 24, 2020

ट्रम्प ने कर दिया युद्ध का एलान, करने जा रहे परमाणु बम का परिक्षण

कोरोना संकट के बीच अमेरिका को चीन और रूस से खतरे का डर सता रहा है. इसलिए अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप करीब 28 साल बाद परमाणु बम परीक्षण पर विचार कर रहे हैं. आपको बता दें कि अमेरिका ने अंतिम बार वर्ष 1992 में परमाणु परीक्षण किया था. ऐसा माना जा रहा है कि इस परीक्षण का मकसद अपने हथियारों की विश्‍वसनीयता को परखना और नए डिजाइन वाले हथियार बनाना है ताकि युद्ध में इस हथियार का इस्तेमाल किया जा सके.

आपको बता दें कि अमेरिकी अधिकारियों के बीच परमाणु परीक्षण को लेकर कोई सहमति नहीं बन पाई लेकिन ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा कि &#8216इस प्रस्‍ताव के संबंध में चर्चा जारी है.&#8217 इस बीच परमाणु अप्रसार का समर्थन करने वाले लोगों ने ट्रंप प्रशासन के इस प्रस्‍ताव पर चिंता जताई है.

उनका कहना है कि परमाणु परीक्षण करना अन्‍य परमाणु हथियार संपन्‍न राष्‍ट्रों को ऐसा करने के लिए प्रेरित करेगा. इससे पूरी दुनिया में परमाणु हथियारों की अप्रत्‍याशित होड़ शुरू हो सकती है.&#8217

गौरतलब हों कि दुनिया की सर्वोच्‍च महाशक्ति अमेरिका के पास 3800 परमाणु हथियार हैं. ये परमाणु बम पूरी दुनिया को कई बार नष्‍ट कर सकते हैं. इतना ही नहीं, इन परमाणु हथियारों को ले जाने के लिए अमेरिका के पास 800 मिसाइले हैं. ये मिसाइलें दुनिया के किसी भी शहर को पलक झपकते ही तबाह कर सकती हैं. सूत्रों के मुताबिक अमेरिका ने 1750 परमाणु बमों को मिसाइलों और बमवर्षक विमानों में तैनात कर रखा है. इसमें से 150 परमाणु बम अमेरिका ने यूरोप में तैनात कर रखे हैं ताकि रूस पर नजर रखी जा सके. Dailyhunt

Disclaimer: This story is auto-aggregated a computer program and has not been created or edited Dailyhunt. Publisher: Khabar Arena

No comments:

Post a Comment