Tuesday, June 23, 2020

प्रकाश जावड़ेकर ने ‘कान फिल्म मार्केट 2020’ में ‘वर्चुअल इंडिया पवेलियन’ का उद्घाटन किया

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज ‘कान फिल्म मार्केट 2020’ में ‘वर्चुअल इंडिया पवेलियन’ का उद्घाटन किया। इस पवेलियन में समस्‍त भाषाई, सांस्कृतिक और क्षेत्रीय नजरिए से भारतीय सिनेमा की उत्‍कृष्‍ट एवं विस्‍तृत झलक दिखाई जा रही है। इस पवेलियन का उद्देश्‍य वितरण, उत्पादन, भारत में फिल्मांकन, पटकथा विकास एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में और भी अधिक संख्‍या में अंतर्राष्ट्रीय साझेदारियां करना तथा फिल्म बिक्री एवं समूहन (सिंडिकेशन) को बढ़ावा देना है।

प्रकाश जावड़ेकर ने पूरी दुनिया की फिल्म बिरादरी और फिल्म प्रेमियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘वर्चुअल (आभासी) उद्घाटन को ही अब नई सामान्‍य स्थिति माना जाना चाहिए और ये वर्चुअल स्थान ही वास्तविक साझेदारियां करने के लिए नए स्थान हैं।’ उन्होंने यह भी कहा कि फिल्में भारत की सौम्‍य शक्ति यानी सॉफ्ट पावर हैं और फिल्म सुविधा कार्यालय को केंद्र एवं राज्य सरकार से मिलने वाली सभी तरह की अनुमति के लिए एकल खिड़की या प्रकोष्‍ठ बनाया जाएगा। प्रकाश जावड़ेकर ने अंतर्राष्ट्रीय फिल्म बिरादरी को भारत में फिल्म की शूटिंग करने और विश्व बाजार में इनकी बिक्री करने के लिए आमंत्रित किया। मंत्री महोदय ने उम्मीद जताई कि भारत से कान भेजी गई दो फिल्मों को विश्‍व भर में सराहा जाएगा।

भारतीय पवेलियन दरअसल वैश्विक फिल्म समुदाय के लिए भारत और भारतीय सिनेमा के बारे में आवश्‍यक जानकारियां देने वाले एक सूचना प्रसार केंद्र के रूप में काम करेगा। इतना ही नहीं, यह पवेलियन फिल्म निर्माताओं और अन्य मीडिया एवं मनोरंजन उद्योग के हितधारकों के बीच कारोबारी बैठकें और आपस में संवाद करने की सुविधा भी प्रदान करेगा।

भारतीय पैवेलियन 22-26 जून, 2020 के दौरान इन प्रासंगिक विषयों पर विभिन्‍न सत्रों का आयोजन कर रहा है: कोविड काल के बाद की दुनिया में फिल्मों का भविष्य, आओ, भारत में फिल्म की शूटिंग करो, भारतीय सामग्री को वैश्विक बाजारों में ले जाना: डिजिटल प्लेटफॉर्मों के युग में फिल्म समारोहों का महत्व एवं भूमिका, भारतीय फिल्म सेवाओं का विश्व भर में निर्यात/ वैश्विक मनोरंजन में योगदान करना और सह-उत्‍पादन के लिए नई ऊर्जा का संचार करना।

भारतीय फिल्मों को बढ़ावा देने की बारीकियों पर चर्चा करने और घरेलू एवं वैश्विक मीडिया और मनोरंजन उद्योग की कंपनियों के बीच साझेदारियां करने के लिए फिल्म आयोगों, फिल्म फंड्स और फिल्म समारोहों के आयोजकों के साथ तीन गोलमेज बैठकें भी आयोजित की जाएंगी।

पहली बार भारतीय पवेलियन में दो फिल्मों की स्क्रीनिंग का भी आयोजन किया जाएगा। ये फिल्में हैं: माईघाट: क्राइम नंबर 103/200 (मराठी) और हेल्लारो (गुजराती)। ये दोनों ही राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेता फिल्में हैं।

इसके अलावा, प्रसिद्ध फिल्म निर्माता सत्यजीत रे के शताब्दी वर्ष को रेखांकित करने के लिए वर्चुअल इंडिया पवेलियन में उनकी कुछ बेहतरीन फिल्में दिखाई जा रही हैं: गणशत्रु, आगंतुक, और इसके साथ ही पवेलियन की वेबसाइट पर सत्यजीत रे का संगीत भी दर्शाया जाएगा।

प्रकाश जावड़ेकर ने गोवा में 20 से 28 नवंबर तक आयोजित किए जाने वाले भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह के लिए पोस्टर और फेस्टिवल बुकलेट का भी प्रस्‍तुत किया।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment