Thursday, June 18, 2020

देखें, 43 सेना मरते ही निकल गयी चीन की अकड़, भारत के सामने टेके घुटने, लगाया ये गुहार..

आज एक बार फिर मै कुछ टेक्नोलॉजी से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

चीन के विदेश मंत्रालय से बड़ी खबर आ रही है। अभी-अभी चीनी विदेश मंत्रालय ने बॉर्डर पर झड़प को लेकर बयान जारी किया है। चीन की तरफ कहा गया है कि भारत के साथ अब और अधिक झड़प नहीं चाहते हैं। जीं हां अब तक चीन के तरफ अपने सैनिकों और हुई हिंसात्मक झड़प पर कोई बयान जारी नहीं किया गया था। ऐसे में अब चीन में बयान जारी कर झड़प आगे न बढ़ाने की अपील की है|

लद्दाख बॉर्डर पर हुई हिंसक झड़प के चलते तनातनी का माहौल काफी ज्यादा बढ़ता ही जा रहा था, कि चीन के विदेश मंत्रालय की तरफ से ये बयान जारी किया गया, कि वे भारत से किसी तरह की कोई झड़प नहीं चाहते हैं।

बता दें, गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसात्मक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल समेत देश के 20 सैनिक शहीद हो गए।

वहीं जो सैनिक चीन के साथ हुई इस झड़प शामिल थे, उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है। लेकिन चीन को कितनी क्षति हुई है इसका सटीक आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है हालांकि 40 के करीब की संख्या बताई जा रही है।

इसके साथ ही आज जानकारी मिली कि घाटी में हुई इस हिंसात्मक झड़प में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है। ये अफसर झड़प की अगुवाई कर रहा था। सूत्रों के मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है।

हालातों को देखते हुए सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, लोकल कमांडर को फ्री हैंड कर दिया गया है, जिससे इस समय के हालातों को देखते हुए वो तुंरत एक्शन ले पाए।

इसके साथ ही सूत्रों का ये भी कहना है कि अब आईटीबीपी को आर्मी कंट्रोल में दिया जा सकता है। वहीं उत्तराखंड के जोशीमठ में सेना का मूवमेंट बढ़ गया है, सीमा पर आईटीबीपी की कई टुकड़ियां भेजी गई हैं।

Continue Reading

Previous उधर चीन से लड़ रहा भारतीय सेना, इधर पीछे से नेपाल सेनाध्यक्ष ने चली गन्दी चाल Dailyhunt

Disclaimer: This story is auto-aggregated a computer program and has not been created or edited Dailyhunt. Publisher: Khabar Arena

No comments:

Post a Comment