Monday, June 22, 2020

कोरोना महामारी को दिल्ली में नियंत्रित करने का होगा हर संभव प्रयास- शाह

नई दिल्ली 14 जून।गृहमंत्री अमित शाह ने आज कहा कि नरेन्‍द्र मोदी सरकार दिल्‍ली में कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने और राष्‍ट्रीय राजधानी को सुरक्षित रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

श्री शाह ने आज दिल्‍ली में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की अध्‍यक्षता की जिसमें केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन, दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल, मुख्‍यमंत्री अरविन्‍द केजरीवाल तथा अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी शामिल हुए।

श्री शाह ने कहा कि अगले दो दिन के भीतर  दिल्‍ली में कोविड-19 के परीक्षण की क्षमता दोगुनी कर दी जाएगी और अगले छह दिन में यह तीन गुनी हो जाएगी। बैठक में दिल्‍ली के नागरिकों की सुरक्षा के लिए कई निर्णय लिए गए। श्री शाह ने कहा कि दिल्‍ली के अस्‍पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बिस्‍तरों की कमी को देखते हुए केन्‍द्र सरकार ने दिल्‍ली सरकार को तुरंत परिवर्तित पांच सौ रेल बोगियां उपलब्‍ध कराने का फैसला किया है। इसके साथ ही दिल्‍ली में आठ हजार और बिस्‍तर उपलब्‍ध हो जाएंगे। इन रेल डिब्‍बों में कोविड-19 के इलाज की सभी सुविधाएं उपलब्‍ध होंगी।

बैठक में यह भई निर्णय़ लिया गया कि कंटेनमेंट क्षेत्रों में घर-घर स्‍वास्‍थ्‍य सर्वेक्षण किया जाएगा और इसकी रिपोर्ट एक सप्‍ताह के भीतर उपलब्‍ध होगी। प्रभावी निगरानी के लिए सभी निवासियों को अपने फोन में आरोग्‍य सेतु ऐप्‍प रखने को कहा जाएगा। श्री शाह ने कहा कि जांच की सुविधा प्रत्‍येक मतदान केन्‍द्र पर उपलब्‍ध कराई जाएगी।

गृहमंत्री ने कहा कि नीति आयोग के सदस्‍य डॉक्‍टर वी के पॉल की अध्‍यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है, जो निजी अस्‍पतालों में कोरोना इलाज के लिए कम दरों पर 60 प्रतिशत बिस्‍तर होना सुनिश्चित करेगी। यह समिति कोरोना की जांच और इलाज की दरें भी तय करेगी। यह समिति अपनी रिपोर्ट कल दे देगी। गृहमंत्री ने कहा कि सरकार ने मृतकों के अंतिम संस्‍कार के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी करने का निर्णय लिया है।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment