Tuesday, June 30, 2020

डाकिया डाक लाया हो गई गुजरे जमाने की बात, अब आम भी लाएगा!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

लखनऊ: डाकिया डाक लाया तो गुजरे जमाने की बात हो गई है क्योंकि डाकिया अब आम भी लाएगा। रहमान खेड़ा स्थित केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान (सीआईएसएच) और भारतीय डाक विभाग, इसके लिए एक समझौता करने जा रहे हैं। इसके बाद आप देश में कहीं से भी लखनऊ के दशहरी समेत किसी भी आम को ऑनलाइन बुक कर सकेंगे और डाकिया उसे आपके घर तक पहुंचाएगा। इसके सफल ट्रायल के बाद ही यह फैसला लिया गया है। एक-दो दिन में दोनों विभागों के बीच एमओयू होने और ऑनलाइन बुकिंग के लिए एक विशेष ऐप लॉन्च करने की योजना है।

सीआईएसएच के निदेशक डॉ़ शैलेंद्र राजन के मुताबिक, लखनऊ के आम पूरे देश में पसंद किए जाते हैं। कोरोना काल में इनको एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना मुश्किल हो गया था।
इसलिए यह रास्ता तलाशा गया है। डाक विभाग के पास पूरे देश में बड़ा नेटवर्क है। उसका इस्तेमाल आम पसंद करने वाले लोगों के लिए किया जा सकता है। इससे आम की खेती करने वालों को भी मुनाफा होगा।

ऐप पर कर सकेंगे बुक
शैलेंद्र राजन ने कहा-मैंगोबाबा ऐप से भी ऑनलाइन सप्लाई चेन विकसित की जा रही थी, लेकिन प्राइवेट कुरियर कंपनियों के लिए इस महामारी में आम पहुंचाना आसान नहीं रह गया। इसलिए डाक विभाग साथ आया है। एक अलग ऐप के साथ मैंगोबाबा ऐप में भी ऑनलाइन बुकिंग के ऑप्शन दिए जाएंगे। ऐप में बुकिंग का खर्च आदि की भी जानकारी मौजूद होगी। डाक विभाग के साथ आने बाद अब सप्लाई चेन भी बढ़ेगी। ट्रायल के नतीजे उत्साहित करने वाले हैं। फरीदाबाद, दिल्ली और मुरादाबाद में आम 24 घंटे के भीतर पहुंचे हैं।

बागवानी के उपकरण भी पहुंचेंगे
डॉ़ राजन के मुताबिक इसके जरिए न केवल आम बल्कि बागवानी के उपकरण भी पहुंचाए जाएंगे। कोरोना की वजह से आम की बागवानी में इस्तेमाल होने वाले तमाम उपकरण भी लोगों को आसानी से नहीं मिल रहे हैं। किसान दूर तक यात्रा करना नहीं चाहते। ऐसे में दोनों विभागों के साथ आ जाने के बाद हार्वेस्टर, कीड़ों के लिए जाल और दूसरी चीजें भी किसानों को आसानी से मिल सकेंगी।

</>

No comments:

Post a Comment