Sunday, June 14, 2020

मंत्रियों से बैठक में बोले पीएम मोदी- कोरोना से साथ मिलकर लड़ेंगे, राज्यों से बात कर तैयार करें इमरजेंसी प्लान!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

नई दिल्ली: देश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ एक बैठक में इस महामारी की स्थिति की समीक्षा की। इस बैठक में कोरोना से निपटने कि लिए किए जा रहे उपायों की भी समीक्षा की गई। प्रधानमंत्री ने दिल्ली समेत देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना की स्थिति की जानकारी ली। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, प्रधानमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी, कैबिनेट सेक्रेटरी, स्वास्थ्य सचिव, आईसीएमआर के डीजी भी शामिल हुए।

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार ऊपर की ओर जा रहा है. देश में अब तीन लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं.
इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के हालात को लेकर मंत्रियों और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. साथ ही अगले दो महीनों की तैयारियों की स्थिति पर भी चर्चा की. देश में कोरोना वायरस अब रफ्तार पकड़ चुका है. हर रोज करीब 10 हजार नए कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हो रही है. इस बीच पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के वर्तमान संक्रमण की रफ्तार और भविष्य की तैयारियों की स्थिति की समीक्षा बैठक की. पीएम मोदी ने उन राज्यों और क्षेत्रों की स्थिति का जायजा लिया, जहां कोरोना के मामलों में तेजी देखी गई है.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ भारत की प्रतिक्रिया की समीक्षा के लिए वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में राष्ट्रीय स्तर की स्थिति और कोरोना वायरस महामारी के संदर्भ में भविष्य की तैयारी की समीक्षा की गई. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले दो महीनों की तैयारी की समीक्षा की. साथ ही पीएम मोदी ने स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों को राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के परामर्श से इमरजेंसी प्लान बनाने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही पीएम मोदी ने मानसून की शुरुआत के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्रालय को तैयारियां सुनिश्चित करने के लिए कहा है.

प्रधानमंत्री कार्यालय का कहना है कि इस बैठक में दिल्ली सहित विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की स्थिति का जायजा लिया गया. इसमें गृह मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, स्वास्थ्य सचिव, आईसीएमआर महानिदेशक और अन्य संबंधित लोग शामिल थे. इस बैठक में कोविड-19 के मामलों को लेकर प्रेजेंटेशन भी दी गई. जिसमें बताया गया कि देश में कोरोना के दो तिहाई मामले पांच राज्यों में हैं. जहां बड़े शहरों में कोरोना का ज्यादा संक्रमण है. वहीं बैठक में पीएम मोदी ने दिल्ली की वर्तमान स्थिति को लेकर भी चर्चा की. बैठक में गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को दिल्ली सरकार, दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों और उप राज्यपाल के साथ बैठक बुलाने के लिए कहा.

नीति आयोग के सदस्य और एमपावर्ड ग्रुप ऑफ मेडिकल इमरजेंसी मैनेजमेंट प्लान के संयोजक ने बैठक में देश में कोरोना की मौजूदा स्थिति और इसे काबू करने के लिए उठाए जा रहे कदमों के बारे में विस्तृत प्रस्तुति दी। बैठक में बताया गया कि देश में कोरोना के कुल मामलों में से दो-तिहाई पांच राज्यों में हैं। बड़े शहरों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। इसके मद्देनजर बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि टेस्टिंग और बेड्स की संख्या बढ़ाई जाए। साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं को भी दुरुस्त किया जाए ताकि रोजाना बढ़ रहे मामलों से कारगर ढंग से निपटा जा सके।

Dailyhunt

Disclaimer: This story is auto-aggregated a computer program and has not been created or edited Dailyhunt. Publisher: Pardaphash Hindi

No comments:

Post a Comment