Saturday, June 20, 2020

प्रधानमंत्री आज देश के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका के अवसर बढ़ाने के लिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरूआत करेंगे

Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan
Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज छह राज्‍यों में व्‍यापक ग्रामीण सार्वजनिक रोजगार योजना-‘गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान की शुरूआत करेंगे। हमारे संवाददाता ने बताया है कि इस अभियान का उद्देश्‍य अपने राज्‍यों को लौटने वाले प्रवासी मजदूरों और ग्रामीण नागरिकों को आजीविका के अवसर प्रदान करना है।

एक सौ 25 दिनों के इस अभियान को मिशन मोड स्तर पर लागू किया जाएगा। पचास हजार करोड़ रुपये के फंड से प्रवासी श्रमिकों को रोज़गार प्रदान करने और देश के ग्रामीण क्षेत्रों में आधारभूत संरचना तैयार करने के लिये 25 विभिन्न प्रकार के कार्यों को तीव्र तरीके से लागू किया जाएगा। अभियान के लिये बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओड़िसा जैसे छह राज्यों के 25 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों के साथ कुल एक सौ 16 ज़िलों को चुना गया है जिसमें से 27 आकांक्षी ज़िलें शामिल हैं। इन ज़िलों से दो तिहाई प्रवासी श्रमिकों के लाभांवित होने का अनुमान है।

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के साथ पांच अन्‍य मुख्‍यमंत्रियों और केन्‍द्रीय मंत्रियों की मौजूदगी में बिहार में खगडिया जिले के तेलिहर गांव से वर्चुअल रूप से इसकी शुरूआत की जायेगी। अभियान का संचालन जिलों में सामान्य सेवा केन्द्रों और कृषि विज्ञान केन्‍द्रों के माध्‍यम से किया जायेगा। यह अभियान 12 विभिन्‍न मंत्रालयों और विभागों के समन्वित प्रयासों से शुरू किया जा रहा है।

गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान छह राज्‍यों-बिहार, झारखण्‍ड, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश ओ‍डीसा और राजस्‍थान के एक सौ 16 जिलों में चलाया जाएगा। इस योजना के दायरे में बिहार के 32 जिले शामिल है। लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्‍न भागों से बिहार में करीब 35 लाख प्रवासी मजदूर लौटे हैं।

गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान की महत्‍वाकांक्षी योजना को लेकर राज्‍य के प्रवासी मजदूरों में काफी उत्‍साह है। प्रवासी मज़दूरों को गरीब कल्याण रोज़गार अभियान में अब अपने गांव में ही रोज़गार के अवसर मिलेंगे। देश के विभिन्न भागों से लगभग 35 लाख कामगार बिहार लौटे हैं। इसे देखते हुए राज्य के 38 में से 32 जिलों में इस महत्वकांक्षी योजना को लागू किया गया है। इस योजना को लेकर मज़दूर काफी उत्साहित हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज खगड़िया की तेलिहार पंचायत के लोगों से संवाद करेंगे। आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत राज्य की एकमात्र इसी पंचायत का चयन किया गया है। सरकार की जो भी योजना है उसका किसी न किसी रूप में यहां कार्यान्वयन हुआ है।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment