Wednesday, July 1, 2020

परत दर परत खुलती जा रही बेसिक शिक्षा विभाग में घोटालों की फेहरिश्त, अब अमेठी में सामने आया नया मामला!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

अमेठी: अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद बेसिक शिक्षा विभाग में घोटालों की फेहरिश्त परत दर परत खुलती जा रही है। अब दो अलग-अलग स्कूलों में तैनात दो ऐसे शिक्षक पाए गए हैं जिनके पैन कार्ड दो अन्य जिलों में तैनात दो शिक्षकों की तरह ही हैं। इन दोनों का वेतन रोकते हुए बीएसए ने जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति बना दी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के संग्रामपुर के उच्च प्राथमिक विद्यालय बड़ा नेवादा में तैनात सहायक अध्यापक रमेश कुमार यादव व गोंडा में तैनात एक शिक्षक का पैन कार्ड एक पाया गया। वहीं तिलोई के उच्च प्राथमिक विद्यालय रमई में तैनात प्रवीण कुमार यादव का पैन कार्ड वाराणसी में तैनात एक शिक्षक का पैन कार्ड एक ही पाया गया।
जिसके बाद शासन से पत्र भेजकर बीएसए को अवगत कराया गया। जिस पर बीएसए विनोद कुमार मिश्र ने दोनों शिक्षकों का वेतन तत्काल अवरुद्ध करते हुए उनसे उनके वास्तविक प्रमाण पत्र लेकर उपस्थित होने को कहा है।

गठित हुई जांच समिति
पूरे प्रकरण की जांच के लिए खंड शिक्षाधिकारी गौरीगंज, संग्रामपुर व तिलोई की अगुवाई में एक जांच कमेटी गठित की गई है। कमेटी पूरे प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट देगी।

बोले साहब
दो शिक्षकों का पैन कार्ड अन्य जिलों के दो शिक्षकों के समान पाया गया है। दोनों का वेतन रोक दिया गया है। मामले की जांच कराई जा रही है। दोनों जनपदों के बीएसए को पत्र लिखकर स्थिति मांगी गई है।
विनोद कुमार मिश्र, बीएसए, अमेठी

</>

No comments:

Post a Comment