Saturday, August 8, 2020

पतंजलि आयुर्वेद पर मद्रास हाईकोर्ट ने लगाया 10 लाख का जुर्माना, जानिए पूरा मामला!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

चेन्नई। योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद और दिव्य मंदिर योग ट्रस्ट के खिलाफ 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। कोर्ट ने यह जुर्माना पतंजलि के उस दावे पर लगाया है, जिसमें कहा गया था कि उनका आयुर्वेदिक सूत्रीकरण कोरोनिल कोरोना वायरस को ठीक कर सकता है।

वहीं, इससे पहले को​रोनिल दवा के ट्रेडमार्क के इस्तेमाल पर मद्रास हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी। जस्टिस सीवी कार्तिकेयन ने चेन्नई की कंपनी अरुद्रा इंजीनियरिंग लिमिटेड की याचिका पर 30 जुलाई तक के लिए यह अंतरिम आदेश जारी किया था।

अरुद्रा इंजीनियरिंग लिमिटेड ने दावा किया था कि सन 1993 से उसके पास &#8216कोरोनिल&#8217 ट्रेडमार्क है।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उसने दावा किया था कि साल 1993 में &#8216कोरोनिल-213 एसपीएल&#8217 और &#8216कोरोनिल-92 बी&#8217 का रजिस्ट्रेशन कराया गया था। वह तब से उसका रिन्युअल करा रही है।

गौरतलब है कि, बुधवार को बाबा रामदेव ने दावा किया था कि पतंजलि आयुर्वेद कोरोनिल की मांग को पूरा करने के लिए जूझ रही है। उन्होंने कहा था कि अभी तक वो फिलहाल रोजाना सिर्फ एक लाख पैकेट की आपूर्ति कर पा रही है। उन्होंने कहा, &#8216आज रोजोना कोरोनिल के 10 लाख पैकेट की मांग हो रही है, लेकिन हम सिर्फ एक लाख पैकेट ही दे पा रहे हैं।&#8217

</>

No comments:

Post a Comment