Wednesday, August 5, 2020

कोरोना के चलते शख्स ने 14 लाख रुपये की पहले की धुलाई, फिर सुखाने के लिए लगा दी आग.!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

कोरिया: दुनिया भर मे कोरोना वायरस ने अपने पैर पसार लिए हैं। इससे लोग काफी प्रभावित हो रहें हैं। कई लोग इससे जूझने के लिए कई तरह की जुगत भी लगा रहें हैं लेकिन कई लोग इससे इस समस्या से झुटकारा पाने के लिए बेहद अहतियाद बारात रहें हैं।

इससे बचने के लिए आपको कई लोग सरकार द्वारा दी गई सादवाइस का पालन कर रहें हैं कई लोग इस वायरस से निपने के लिए घर लाई हर चीज़ को अच्छे से साबुन से धो कर इस्तेमाल कर रहें हैं।

इसी दौरान एक ऐसा केस सामने आया है, जिसके बारें में सुन हैरान हो जायेंगे। कोरोना के खौफ से एक शख़्स ने बड़ी संख्या में नोट वॉशिंग मशीन में धो डाले।

14 लाख रुपये वायरस के डर से जला दिये

बता दें की यह केस दक्षिण कोरिया का है।
स्थानीय मीडिया के अनुसार, दक्षिण कोरिया में सियोल के समीप अंसन शहर के रहने वाले एक व्यक्ति ने कोरोना संक्रमण के डर से अपने सारे रूपए डिसइंफेक्टेड करने के लिए लगभग चौदह लाख रु वॉशिंग मशीन में डाल कर धो डाले।

हद्द तो तब हो गई जब इन रुपयों को सुखाने के लिए ओवन में डाल दिया, जिसकी वजह से ये नोट जल कर राख़ गए। आपको बता दें, नोटों को डिसइंफेक्ट करने के इस नए तरीकों के बारे में जानकार सब लोग हैरान हो गए हैं। नोटों के जलने के बाद इस शख्स ने बैंक ऑफ कोरिया में यह पता करने के लिए गए कि क्या नए बिलों के लिए ये नोट बदल सकते हैं। बैंक अफसरों के अनुसार नुकसान काफी ज्यादा था।

बैंक ने खराब नोटों को लेकर दिया ये बयान

अधिकतर नोट ख़राब हो गए थे। बैंक ऑफ कोरिया ने इस बारें में बताया कि ख़राब और कटे-फटे नोटों की अदला बदली रूल्स के तहत की जा सकती है। जिसके बाद बैंक ऑफ कोरिया ने नियमों के तहत, शख्स को 19,320 डॉलर की नई करेंसी दी और कुछ को बदला नहीं जा सका क्यों की काफी क्षतिग्रस्त हो गए थे.

</>

No comments:

Post a Comment