Thursday, August 6, 2020

भारत ने मालदीव इंडस्ट्रियल फिशिरीज़ कम्‍पनी को एक करोड़ 80 लाख अमरीकी डॉलर का ऋण दिया



भारत ने मालदीव इंडस्ट्रियल फिशिरीज़ कम्‍पनी – (MiFCO) में मत्‍स्‍य पालन सुविधाओं के विस्‍तार के लिए मालदीव सरकार को एक करोड़ 80 लाख अमरीकी डॉलर का ऋण दिया है। इस परियोजना में मछलियों को जमा करने और उनके भंडारण की सुविधाओं और टूना मछली पकाने तथा मछली के चारे की तैयारी के लिए संयत्रों की स्‍थापना में इस राशि का इस्‍तेमाल किया जाएगा। ये ऋण, भारत सरकार द्वारा 80 करोड़ अमरीकी डॉलर ऋण की पेशकाश का एक हिस्‍सा है।

इस ऋण को 20 साल में अदा करना है जिसमें पांच वर्ष के लिए छूट भी दी जाएगी। माले में भारतीय उच्‍चायोग ने बताया है कि मालदीव के लोगों के जीवन में मछली का बहुत महत्‍व है और इसके निर्यात के माध्‍यम से देश की आर्थिक व्‍यवस्‍था भी ठीक रहती है। इस परियोजना से मालदीव वासियों को लाभ पहुंचेगा। नए बाजार मिलेंगे। मछली पकड़ने और उनके भंडारण की क्षमता बढ़ेगी और ये आमदनी का एक स्‍त्रोत भी होगा। उच्‍चायोग का कहना है कि इस परियोजना से भारत और मालदीव की पुरानी मित्रता और भागीदारी और सशक्‍त होगी।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment