Wednesday, August 12, 2020

गोरखनाथ मंदिर में संकीर्तन शुरू, शामिल होंगे सीएम योगी आदित्यनाथ!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

गोरखपुर: नाथ संप्रदाय की सिद्ध पीठ गोरखनाथ मंदिर में मंगलवार की रात 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया जाएगा। इस कार्यक्रम में सीएम गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर मंदिर परिसर स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में सोमवार को मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ ने अखण्ड हरि-संकीर्तन शुरू कराया।

मंदिर परिसर स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में सोमवार अपराह्न 4 बजे से श्री हरिनाम संर्कीतन शुरू हुआ। मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ ने अन्य पुजारियों के साथ इसे शुरू कराया। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए श्रीराधा कृष्ण मंदिर के पुजारी मानिकनाथ, गौतम पाठक, दर्शन श्रीवास्तव, वेद जी, ऋषिलाल, नवरंग सिंह और ओपी दुबे शामिल हुए।
ढोल-मंजीरे की मंगल ध्वनि के बीच पारम्पिक कीर्तन गायन पूरे मंदिर को श्रद्दा के भाव से भर रहा था।

मंदिर के कार्यालय सचिव द्वारिका तिवारी ने बताया कि मंगलवार की रात श्रीनाथ मंदिर के गर्भगृह में रात 12 बजे गोरक्षपीठाधीश्वर पारम्परिक रूप से भगवान श्रीकृष्ण का जन्म कराएंगे। मंगल ध्वनि, सोहर और भजन के बीच गर्भ गृह से बाहर लाकर नंद गोपाल को मुख्य मंदिर के प्रार्थना मण्डप में रखे पालने में गोरक्षपीठाधीश्वर झूला झुलाएंगे। उसके बाद धनिया, चीनी और मेवा मिले प्रसाद का वितरण होगा। इस पूरे अनुष्ठान को सम्पन्न कराने मे मंदिर के प्रधान पुरोहित रामानुज त्रिपाठी और उनकी टीम भी शामिल होगी।

सीएम कार्यालय से मिली है सूचना
गोरखनाथ मंदिर के प्रवक्ता विनय गौतम ने बताया कि मंदिर प्रबंधन ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि मंदिर में हर साल होने वाला श्रीकृष्ण बाल रूप सज्जा प्रतियोगिता नहीं होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर आगमन का प्रोटोकॉल नहीं आया है लेकिन मंदिर प्रबंधन का कहना है कि मंगलवार को उनके कार्यक्रम में शामिल होने की सूचना सीएम कार्यालय से मिल चुकी है।

प्रार्थना सभागार में गूंजेंगी सोहर की स्वरलहरियां
श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर गुरु गोरखनाथ के मुख्य मंदिर के प्रार्थना सभागार में भजन संध्या होगी। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोक गायक राकेश श्रीवास्तव अपनी टीम के साथ भजन और सोहर सुनाएंगे। कार्यक्रम को लेकर उत्साहित राकेश श्रीवास्तव का कहना है कि भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव पर रसवर्षा करने के लिए उनकी टीम तैयार है। हालांकि कोरोना के कारण कृष्ण बाल रूप सज्जा कार्यक्रम आयोजित न होने के उन्हें भी मलाल है।

</>

No comments:

Post a Comment