Thursday, August 13, 2020

सीआईएसएफ ने खारिज किए कनिमोझी के आरोप, हवाई अड्डों पर स्थानीय भाषा जानने वाले और कर्मी होंगे तैनात!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

नई दिल्ली: केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने कहा है कि हवाई अड्डों पर ऐसे कर्मियों की तैनाती अधिक संख्या में की जाएगी जो स्थानीय भाषा जानते हों। इससे पहले द्रमुक सांसद कनिमोझी ने आरोप लगाया था कि हवाई अड्डे पर एक सीआईएसफ कर्मी ने उनसे भारतीय होने के संबंध में सवाल पूछा क्योंकि उन्हें हिंदी नहीं आती। सीआईएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कनिमोझी के आरोपों का खंडन किया और कहा कि महिला अधिकारी से हुई आरंभिक पूछताछ में इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

अधिकारी ने कहा कि नौ अगस्त को चेन्नई हवाई अड्डे पर जिस महिला अधिकारी ने सांसद से बात की, उसने पूछताछ के दौरान वरिष्ठ अधिकारियों को बताया कि उसने &#8216वह शब्द नहीं कहे थे जो कनिमोझी कह रही हैं।
बल्कि उसने केवल इतना ही कहा था कि हिंदी भी भारतीय या आधिकारिक भाषा है।&#8217 कनिमोझी ने घटना के बारे में ट्वीट कर हिंदी थोपे जाने का आरोप लगाया था। सीआईएसएफ अधिकारियों ने कहा कि चेन्नई हवाई अड्डे पर तैनात महिला अधिकारी से उसके आचरण के संबंध में कॉउंसलिंग की गई। उन्होंने कहा कि महिला अधिकारी दक्षिण भारतीय राज्य की रहने वाली है और उसने सामान्य सुरक्षा जांच के दौरान हिंदी में कनिमोझी से बात की थी।

सीआईएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, &#8216उसने जांच दल को बताया कि उसने सांसद के हिंदी न जानने को लेकर उनकी भारतीयता के संबंध में कोई सवाल नहीं पूछा। अधिकारी ने सांसद से केवल इतना कहा कि हिंदी भी एक भारतीय या आधिकारिक भाषा है।&#8217 कनिमोझी द्वारा इस मसले पर ट्वीट किए जाने के बाद सीआईएसएफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और किसी एक भाषा को थोपना सीआईएसएफ की नीति नहीं है। सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने कहा, &#8216हमारा ध्यान इस पर रहता है कि किसी भी प्रकार से संपर्क अच्छी तरह स्थापित होना चाहिए।&#8217

</>

No comments:

Post a Comment