Thursday, August 6, 2020

मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में भारी वर्षा से जनजीवन अस्त-व्यस्त, प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया



मध्‍य महाराष्‍ट्र में अगले 24 घंटों में भारी वर्षा होने की मौसम विभाग की चेतावनी के बाद राज्‍य के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से कहा है कि वे घरों में ही रहें और केवल आवश्‍यक कार्य के लिए ही बाहर निकलें। वर्षा की स्थिति का जायजा लेने के बाद मुख्‍यमंत्री ने बृहन मुंबई नगर पालिका से कहा है कि वह पुलिस, रेलवे, स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों तथा राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल के साथ समन्‍वय से सुनिश्‍चित करे कि‍ लोगों को किसी दिक्‍कत का सामना न करना पड़े। हमारी संवाददाता ने बताया है कि मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में भारी वर्षा से जीवन अस्‍त व्‍यस्‍त हो गया है।

मुंबई में कल केवल 12 घंटों के भीतर इस मौसम की सबसे अधिक बारिश हुई। आई.एम.डी. के अनुसार कुलाबा में 330 मि.मी. बारीश दर्ज हुई, जबकि सांताक्रूज में 146 मि.मी. बारिश दर्ज की गई। दूसरी ओर, जवाहरलाल नेहरू पोर्ट कंटेनर टर्मिनल पर भारी बारिश से तीन क्रेन क्षतिग्रस्त हो गईं। जेएनपीटी के प्रवक्ता ने बताया कि प्रतिकूल मौसम और तेज हवाओं के कारण पूरे नुकसान का अभी पता लगाया जा रहा है। हालांकि, किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। नवी मुंबई और आसपास के इलाकों में मूसलाधार बारिश ने नेरुल के डी.वाई. पाटिल स्टेडियम को बड़ा नुकसान पहुंचाया है। वहीं उपनगरी मध्य रेल मार्ग पर मस्जिद रेलवे स्टेशन पर फंसे 22 यात्रियों को एनडीआरएफ ने बचाया है। इसी बीच, भारी बारिश के मद्देनज़र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की है और केंद्र से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment