Sunday, September 20, 2020

देखें ,पाक आतंकियों की घुसपैठ को रोकने के लिए सरकार का बड़ा फैसला, बॉर्डर पर 3,000 अतिरिक्त सैनिक तैनात!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

पाकिस्तानी सेना लगातार भारत में आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में लगी है। इसबीच भारत ने लाइन ऑफ कन्ट्रोल (एलओसी) के पास पाकिस्तानी सेना की कोशिशों को नाकाम करने और आतंकियों को वापस खदेड़ने के लिए 3,000 अतिरिक्त सैनिकों को तैनात किया है।

शीर्ष सूत्रों के मुताबिक, &#8216एलओसी पर घुसपैठ को रोकने के लिए एक अतिरिक्त टुकड़ी तैनात की गई है और इस कदम के अच्छे परिणाम भी मिले हैं।&#8217 उन्होंने कहा कि एलओसी पर तैनात अतिरिक्त जवान घुसपैठ की सभी कोशिशों को नाकाम करने में सफल रहे हैं और आतंकवादियों को सीमा में घुसने से रोका गया है।

सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तानी सेना इस साल आतंकवादियों की भारत में घुसपैठ कराने में विफल रही है और भारी बर्फबारी के कारण अक्टूबर-नवंबर तक ऐसी कोशिशों को लगातार रोका जाएगा।
बता दें कि भारतीय सेना एलओसी पर पूरी तरह से सक्रिय है और हाल ही में उसने उत्तरी कश्मीर के गुरेज़ सेक्टर से घुसपैठ की कोशिश को नाकाम किया है।

सूत्रों ने कहा कि वर्तमान में, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तानी सेना की एक-दो अतिरिक्त बटालियन मौजूद हैं, लेकिन यह नहीं कहा जा सकता है कि वे चीनी सेना के समर्थन में भारत पर दबाव बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। अगर पाकिस्तानी ऐसा करने की कोशिश करते हैं, तो भारतीय सेना भी ऐसी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

पाकिस्तान सीजफायर का उल्लंघन बढ़ाने की भी कोशिशों में लगा है। दूसरी ओर सेना प्रमुख ने जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए हाल ही में श्रीनगर का दौरा किया था। इस दौरान सेना प्रमुख ने पहली बार एलओसी की फॉरवर्ड लोकेशन्स का दौरा किया था और सैनिकों की ऑपरेशनल तैयारियों की पहली बार समीक्षा की थी।

</>

No comments:

Post a Comment