Saturday, September 12, 2020

दुनिया मे है एक ऐसा देश जहां मुस्लिम तो हैं लेकिन नहीं है मस्जिद बनाने की इजाजत!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

स्लोवाकिया: भारत एक ऐसा देश है जहां सभी धर्मो को पूजने की मान्यता दी गई है यहां तक हर चीज़ की अलग तरफ की फिलेक्स्बिलिटी भी दी गई है। लेकिन ये नियन हर देश मे लागू नहीं होते हर देश के अलग-अलग नियम और अलग अलग पहचान होती है आज हम एक ऐसे देश के बारे मे बताने जा रहा है जिसके कानून जान कर आपके होश उद जाएँगे।

आपको बता दें, विश्व में एक ऐसा भी देश है, जहां मुस्लिम तो अवश्य रहते हैं, किन्तु यहां एक भी मस्जिद नहीं है। इतना ही नहीं इस देश में मस्जिद बनाने की मंजूरी भी नहीं है। इस देश का नाम है स्लोवाकिया। स्लोवाकिया में जो मुस्लिम है, वो तुर्क तथा उगर हैं, तथा 17 वीं सदी से ही यहां रह रहे हैं।

वर्ष 2010 में स्लोवाकिया में मुस्लिमों की आबादी 5,000 के आसपास थी। स्लोवाकिया यूरोपीय यूनियन का मेंबर भी है। किन्तु वो एक ऐसा देश है, जो सबसे अंत में इसका मेंबर बना। वही इस देश में मस्जिद बनाने को लेकर जंग भी होती रही है।

सभी प्रस्ताव हुए खारिज

वर्ष 2000 में स्लोवाकिया की राजधानी में इस्लामिक सेंटर बनाने को लेकर भी जंग हो गई। ब्रातिसिओवा के मेयर ने स्लोवाक इस्लामिक वक्फ फाउंडेशन के सभी प्रस्ताव को खारिज कर दिया। वही वर्ष 2015 में यूरोप के सामने शरणार्थियों का प्रवास एक बड़ा मामला बना हुआ था।

उस वक़्त स्लोवाकिया ने 200 ईसाइयों को शरण दी, किन्तु मुस्लिम शराणार्थियों को आने से इंकार कर दिया। साथ ही इसपर स्प्ष्टीकरण देते हुए स्लोवाकिया के विदेश मंत्रालय ने कहा कि उनके यहां मुस्लिमों के इबादत का कोई स्थान नहीं है, जिसकी वजह से मुस्लिमों को शरण देना देश में कई दिक्कतें उत्पन्न कर सकता है।

हालांकि, इस निर्णय का यूरोपीय यूनियन ने भी आलोचना की। 30 नवंबर 2016 को स्लोवाकिया ने एक कानून पास कर इस्लाम को ऑफिशियल धर्म का दर्जा देने पर पाबंदी लगा दी। यह देश इस्लाम को एक धर्म के तौर पर नहीं कबूल करता है। वही मस्जिद को लेकर यहाँ मामला अभी तक चला रहा है, किन्तु यहाँ मस्जिद बनाने की अनुमति नहीं है।

</>

No comments:

Post a Comment