Monday, September 21, 2020

इस तरह का कॉल भूलकर भी न करें रिसीव, बैंक अकाउंट हो जायेगा खाली

बोरीवली के साईं बाबा नगर में रहने वाले 36 वर्षीय रामचंद्र पांडेय के मोबाइल पर करीब 15 दिन पहले किसी अनजान व्यक्ति का एक एसएमएस मिला। इस एसएमएस में कहा गया कि आपके Know Your Customer यानी KYC को अपडेट करने के लिए जांच प्रक्रिया जारी है। इसका वेरिफिकेशन किया जा रहा है। इसलिए KYC को वेरीफाई करने के लिए आपके मोबाइल पर एक लिंक भेजा जा रहा है, जिसे ओपन कर एक ऐप को डाउनलोड करें।

ऐप में कंपनी की ओर से आपको 1 रुपया भेजा जा रहा है, जो टोकन मनी है। इस रुपये को आप स्वीकार कर हमें दोबारा कन्फर्म करें कि आप वही व्यक्ति हैं, जिसका यह बैंक खाता है। पांडेय द्वारा जोन 11 पुलिस को दिए बयान के अनुसार, उसने बैंककर्मी समझ कर KYC फॉर्म से संबंधित लिंक डाउनलोड किया, जिसमें एक ऐप था।
इस ऐप का नाम AnyDesk था। इस ऐप को जैसे ही डाउनलोड कर यूज किया तो 1 रुपये डेबिट होने का मेसेज दिखा, जिसे उस कथित बैंककर्मी कॉलर के वादे के मुताबिक स्वीकार करना था। उसे स्वीकार करते ही कुछ देर बाद उनके खाते से ढाई लाख रुपये की निकासी होने का संदेश आया। KYC अपडेट करने के नाम ठगे जाने का अहसास होते ही उन्होंने पुलिस का रुख किया। बीकेसी साइबर सेल के अनुसार, कोरोना काल में 70 फीसदी तक साइबर क्राइम में इजाफा हुआ है।

साइबर क्राइम एक्सपर्ट एडवोकेट विक्की शाह के अनुसार, &#8216साइबर क्रिमिनल्स पहले आपके मोबाइल पर कॉल कर आपसे ओटीपी नंबर की जानकारी हासिल कर ऑनलाइन ठगी की वारदात को अंजाम देता था। अब जब लोगों में इस OTP देने से पैसा निकलने की जानकारी और इस क्राइम के प्रति जागरूकता आई तो क्रिमिनल्स ने भी साइबर ठगी करने का नया तरीका शुरू कर दिया।&#8217

अब साइबर क्रिमिनल आपके नंबर पर कोई अनजान लिंक भेजकर उसे डाउनलोड करने के लिए कहता है। लिंक की आड़ में वो क्रिमिनल आपसे आपके मोबाइल पर AnyDesk, TeamViewer और Quick Support जैसे सेंधमार ऐप डाउनलोड करवा देता है। इस ऐप के माध्यम से वह शातिर आपका फोन अपने कब्जे (हैक) में कर लेता है और आपके बैंक अकाउंट की सारी जानकारी चुराकर खाते से सारी रकम निकाल लेता है।

मुंबई साइबर पुलिस के अनुसार, पिछले दिनों गुजरात पुलिस ने सोहिल खान पठान और मोहसिन नामक शातिर साइबर क्रिमिनल को गिरफ्तार किया था, जिसके निशाने पर गुजरात से अधिक मुंबई के लोग थे। KYC अपडेट करने के बहाने से सोहिल और मोहसिन देश भर के लोगों को KYC अपडेट्स और आयुर्वेदिक दवाओं को बेचने के बहाने ऑनलाइन ठगता था। सोहिल और मोहसिन के पास से पुलिस को गुजरात, हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड, पंजाब और दिल्ली के लोगों का मोबाइल नंबर एवं उनकी निजी जानकारी मिली थी।

यह जानकारी पेट्रोल पंपों, अस्पतालों, सिनेमाघरों या मॉल्स के बाहर गिफ्ट्स देने का कूपन बांटने वाली कंपनियों एवं गिरोहों एवं कॉलसेंटरों से वे लोग हासिल करते थे। नैशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल (NCRP) से मिली जानकारी के अनुसार, 2018 में साइबर क्राइम से संबंधित 1,081 मामले, जबकि 2019 में 1,686 मामले दर्ज किए गए थे।

किसी तरह की अनजान यानी थर्ड पार्टी मोबाइल एप्लिकेशंस (मोबाइल ऐप) को डाउनलोड और उसके टर्म ऐंड कंडीशन को स्वीकार करने से पहले सौ बार सोचें। कभी भी अनजान कॉलर या लिंक सेंडर के इनाम और कूपन के लालच में नहीं फंसें। अनजान लिंक को डिलीट करते रहें।

महाराष्ट्र या मुंबई से संबंधित साइबर क्राइम के लिए पीड़ित https://ift.tt/2CAGlAB और https://ift.tt/33KXd3A पर मेल कर या हेल्पलाइन नंबर 022-22160080 पर कॉल कर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।

</>

No comments:

Post a Comment