Tuesday, September 22, 2020

यूपी विधानसभा चुनाव अते ही सपा हुई हमलावर, कई मुद्दों पर सपा का प्रदेशभर में प्रदर्शन!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

लखनऊ। प्रदेश में महंगाई, बेरोजगारी, कोरोना और कानून-व्यवस्था को लेकर सोमवार को पूरें प्रदेश में कई स्थानों पर सपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आहृवान पर सपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान सपाइयों ने किसानों से जुड़ी समस्याओं को लेकर प्रदर्शन किया। तहसील स्तर से लेकर जिला मुख्यालय तक समाजवादी पार्टी के सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, विधायक, जिलाध्यक्ष समेत तमाम कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे। कई जगह समाजवादी कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प भी हुई।

लखनऊ के हजरतगंज में सपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

लखनऊ के हजरतगंज में सपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।
इस दौरान प्रदर्शन कर रहे 20 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। जबकि दो दर्जन से ज्यादा नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है। सपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर सोमवार को हुए प्रदेशव्यापी प्रदर्शन मे सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं। रायबरेली में किसान अध्यादेश के विरोध में सपाइयों ने कलेक्ट्रेट में सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद सपा कार्यकर्ताओं ने सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

आज सपा द्वारा उप्र के ज़िलों में ज्ञापन देकर शांतिपूर्ण तरीक़े से रोज़गार की माँग करनेवाले युवाओं पर सरकार ने लाठी उठाकर अच्छा नहीं किया. बेरोज़गारी के कारण निराश युवा के साथ ऐसा व्यवहार सरकार की असंवेदनशीलता दर्शाता है.

घोर निंदनीय! #NoMoreBJP
pic.twitter.com/LyR4Xl7GSx

Akhilesh Yadav (@akhilesh) September 14, 2020

गोंडा जिलें में कई मोर्चों पर सरकार का घेराव

गोंडा जिले में कोरोना महामारी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार समेत कई मोर्चों पर सरकार का घेराव करने के इरादे से समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा। कार्यक्रम का नेतृत्व युवा सपा नेता सूरज सिंह ने किया। ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट वन्दना त्रिवेदी को सौंपा गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री विनोद कुमार सिंह पंडित सिंह ने कहा भाजपा शासन में शिक्षित नौजवान बेकार बैठे हैं और समाज का कमजोर तबका बेरोजगारी का दंश झेल रहा है। पुलिस जनता की मित्र तो नही बन सकी लेकिन उत्पीड़न की एजेंसी बनकर रह गई है।

बदायूं में सपाइयों को रोकने के लिए लगाई पुलिस फोर्स

प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी, किसानों की समस्या, महंगी शिक्षा, बदहाल स्वास्थ्य सेवाएं, उत्पीड़न आदि मुद्दों को लेकर सपा कार्यकर्ताओं ने बदायूं जिले के बिसौली, दातागंज, सहसवान, बिल्सी में तहसील स्तर पर धरना प्रदर्शन कर दिया है। सपाई भाजपा सरकार के विरोध में नारेबाजी की। बदायूं में दोपहर करीब डेढ़ बजे प्रदर्शन किया गया।

लखीमपुर में सपा कार्यकर्ताओं की पुलिस से धक्का-मुक्की

लखीमपुर खीरी में किसान बिल, बेरोजगारी, महंगाई के विरोध में सपा ने जिले भर में जोरदार प्रदर्शन किया। कई जगह पुलिस से धक्का मुक्की भी हुई। गोला में सपाई पूर्व विधायक विनय तिवारी की अगुवाई में जुलूस की शक्ल में सदर चौराहा पहुंचे जहां प्रदेश की भाजपा सरकार की गलत नीतियों के चलते विरोध प्रदर्शन किया। कहा गया कि सरकार की नीतियों के चलते कोरोना संकट बढ़ा, किसान नौजवान, बुनकर और समाज के दूसरे वर्गों की उपेक्षा हुई। आरक्षण पर वार किया गया, कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न किया जा रहा है, भ्रष्टाचार और घोटाले पर नियंत्रण नहीं है, महिलाएं, बच्चियां असुरक्षित है, जनहित में उदासीन सरकार पर कार्यवाही की जानी चाहिए।

</>

No comments:

Post a Comment