Tuesday, September 29, 2020

सावधान! ट्रेन में भूलकर भी न करें ये गलती वरना जुर्माने के साथ टिकट भी होगा कैंसिल

अनियमित टिकट लेकर ट्रेनों में चलने वाले यात्रियों का सफर अब पूरा नहीं हो पाएगा। पकड़े जाने पर जुर्माना देने के साथ ही अगले पड़ाव वाले स्टेशन पर ट्रेन से उतरना भी होगा। दलालों और एजेंटों की साठगांठ को रोकने के लिए रेल प्रशासन ने अनियमित टिकट पर गंतव्य तक यात्रा की अनुमति को कोविड-19 नियमों का उल्लंघन मानते हुए यह निर्देश जारी किए हैं। निर्देश का उल्लंघन करने वाले टीटीई के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी।

दरअसल, स्पेशल ट्रेनों में कई यात्री वरिष्ठ नागरिक का टिकट और काउंटर से तत्काल का कूटरचित ई-टिकट लेकर पहुंच रहे हैं। टिकट पर उम्र भी बदल दी जा रही है। यात्रियों का कहना होता है मोटी रकम देकर उन्होंने एजेंट से टिकट बनवाया है।
ट्रेन में चार्ट से मिलान करने पर मामला पकड़ में आ जाता है। अभी तक ऐसे यात्रियों से जुर्माना वसूल कर उन्हें आगे की यात्रा की अनुमति दे दी जा रही थी।

पिछले दिनों डीआरएम के निर्देश पर गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस और कोचीन एक्सप्रेस में बीच सफर में स्पेशल चेकिंग में भी अनियमित टिकट पर यात्रा करते कई लोगों को पकड़ा गया। इसके बाद पूर्वोत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल के सहायक वाणिज्य प्रबंधक ने 22 सितंबर को आदेश जारी कर गोरखपुर, लखनऊ, बस्ती और गोंडा स्टेशन पर टिकटों की जांच सावधानी से करने का निर्देश दिया है। साथ सीटीटीआई को निर्देशित किया है कि वे पूरे मामले की निगरानी रखें। किसी भी सूरत में अनियमित टिकट पर यात्री सफर न पूरा कर सकें।

अगर कोई यात्री अनियमित टिकट पर यात्रा कर रहा है तो उससे जहां वह पकड़ा गया है उससे अगले स्टॉपेज तक का जुर्माना लेकर उतार दिया जाएगा। यदि यात्री जुर्माना देने में आनाकानी करता है तो उसे आरपीएफ को सौंपने का निर्देश दिया गया है।

इस समय दिल्ली और मुंबई की ट्रेनों में भीड़ ज्यादा है। इसमें ज्यादातर श्रमिक हैं जो कोविड-19 संक्रमण फैलने पर घर आ गए थे। इन यात्रियों को एजेंट कंफर्म टिकट तो मुहैया करा दे रहे हैं, लेकिन उन्हें वरिष्ठ नागरिक बना दे रहे हैं या मुंबई से तत्काल टिकट बनवाकर यहां प्रिंट कराकर दे रहे हैं। उसमें कूटरचित तरीके से उम्र और नाम बदल दिया जा रहा है। यात्री जब स्टेशन पर जा रहा है तो पकड़ा जा रहा है।

रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के टिकटों की दो जगहों पर चेकिंग की जा रही है। प्रवेश द्वार पर टीसी टिकट चेक करते हैं और ट्रेन के पास प्लेटफॉर्म पर टीटीई लगे हैं। गोरखपुर जंक्शन पर 50 से 60 टीटीई जांच के लिए लगाए गए हैं। ऐसे में अनियमित टिकट वाले यात्री ट्रेन में कैसे पहुंच जा रहे हैं, यह बड़ा प्रश्न है।

</>

No comments:

Post a Comment