Tuesday, September 29, 2020

happy birthday: कभी मुंबई की सड़कों पर अंडे बेचा करते थे महमूद, बाद में अमिताभ को फिल्मों में दिया काम

हिंदी सिनेमाजगत के मशहूर कॉमेडियन, फिल्मस्टार और निर्देशक महमूद अली (Mehmood Ali) का आज जन्मदिन है। महमूद अली अपने विशिष्ट अंदाज, हाव भाव और बेहतरीन आवाज से दर्शकों को गुदगुदाने वाले कॉमेडी किंग थे।

महमूद अली (Mahmood Ali) के घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी जिसकी वजह से उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। घर की आर्थिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए महमूद ने अंडे बेचने और टैक्सी चलाने जैसे काम भी किए। लेकिन बचपन के दिनों से ही महमूद की रूचि अभिनय में ही थी।

महमूद के पिता बॉम्बे टॉकीज स्टूडियो में काम करते थे। जहां उनकी सिफारिश के बाद पहली बार महमूद को फिल्म ‘किस्मत’ में मौका मिला। जहाँ उन्होंने अपने अभिनय के दम पर सबको अपना दीवाना बना लिया।

मशहूर कॉमेडियन महमूद ने उस दौर की फेमस एक्ट्रेस मीना कुमारी को टेबल टेनिस सिखाने की नौकरी भी थी। टेनिस सिखाते सिखाते महमूद का दिल मीना कुमारी की बहन मधु पर आ गया था और कहा जाता है कि बाद में खुदकुशी की धमकी देकर शादी भी की थी।

उस दौरान महमूद के लिए काफी तालियां बजती थी। शूट ख़त्म होने के बाद महमूद के लिए जमकर तालियां बजाईं जाती थीं। महमूद अकेले ऐसे कॉमेडियन थे, जिनकी तस्वीर फिल्म के पोस्टर में हीरो के साथ होती थी। लोग सिनेमाघरों में महमूद को देखने जाया करते थे। आलम ये था कि डायरेक्टर को भी ये बात अच्छी तरह पता होती थी कि अगर पिक्चर हिट करनी है, तो महमूद को अपनी फिल्म में लेना ही होगा।

महमूद के बारे में ऐसा कहा जाता है कि उन्हें कभी भी रिहर्सल करते नहीं देखा गया था। वो जो भी करते थे, फिल्मों में लाइव किया करते थे। यही वजह थी कि कई फिल्मी सितारे उनसे जलते थे। उन्हें इस बात से एतराज था कि महमूद को हीरो से ज्यादा पैसे मिलते हैं।

दशकों तक अपनी फिल्मों से लोगों का दिल जीतने वाले महमूद ने करीब 300 फिल्मों में काम किया था। महमूद ने एक से बढ़कर एक फिल्मों में काम किया। ‘लव इन टोक्यो’, ‘आंखें’ और ‘बॉम्बे टु गोवा’ जैसी फिल्मों से महमूद ने एक अलग पहचान बनाई।

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) के करियर में भी महमूद का एक बड़ा हाथ रहा। महमूद ने अमिताभ बच्चन को बतौर सोलो हीरो सबसे पहले अपने डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘बॉम्बे टु गोवा’ में काम करने का मौका दिया।

कहा जाता है कि महमूद के भाई अनवर अमिताभ के दोस्त थे। मुफलिसी के दौर में अमिताभ अनवर के साथ उनके फ्लैट में महीनों रहे। महमूद की फिल्में आज भी दर्शक देखना पसंद करते हैं। आखिरी बरसों में महमूद को दिल की बीमारी हो गई थी। आखिर में 23 जुलाई 2004 को उनका देहांत हो गया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट जानने के लिए WhatsApp ग्रुप को ज्वाइन करें। Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

happy birthday: कभी मुंबई की सड़कों पर अंडे बेचा करते थे महमूद, बाद में अमिताभ को फिल्मों में दिया काम Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment