Thursday, September 3, 2020

अब आयकर रिटर्न दाखिल नहीं करने वाले हो जाएं सावधान, बैंक बन गए हैं Income Tax के ‘जासूस’

अगर आप किसी भी बैंक खाते से भारी मात्रा में नकदी निकालते हैं और आईटीआर फाइल नहीं करते तो आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर से बच नहीं सकते। अब आयकर विभाग ने बैंकों को ऐसी सुविधा दे दी है, जिसके जरिए बैंक आपके पैन नंबर के जरिए आपके आयकर रिटर्न पर नजर रख सकते हैं। आयकर विभाग ने बुधवार को कहा था कि उसने अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों के लिये अपने किसी ग्राहक द्वारा दाखिल की गई आयकर रिटर्न को देखने की सुविधा शुरू कर दी है।

बैंक संबंधित ग्राहक के स्थायी खाता संख्या (पैन) के मुताबिक उसकी दाखिल रिटर्न के बारे में जानकारी ले सकेंगे। आयकर विभाग का कहना है कि आंकड़ों से पता चला है कि भारी मात्रा में नकदी निकालने वाले व्यक्तियों ने कभी भी आयकर रिटर्न दाखिल नहीं की।

कालेधन पर अंकुश

इस सुविधा से रिटर्न दाखिल नहीं करने वाले लोगों के उपर नकदी निकासी पर नजर रखने के साथ ही कालेधन पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी। इन बातों को ध्यान में रखते हुए वित्त विधेयक 2020 में 1 जुलाई 2020 से रिटर्न दाखिल नहीं करने वालों के लिए टीडीएस को अमल लाने के लिहाज से नकदी निकासी की सीमा को घटकर 20 लाख रुपये कर दिया गया। इस संबंध में आयकर कानून 1961 में वित्त विधेयक में संशोधन किया गया।

वाणिज्यिक बैंक आयकर विभाग सूची

केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने 31 अगस्त को जारी एक अधिसूचना में अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों को आयकर विभाग की उस सूची में शामिल कर दिया है जिनके साथ आयकर विभाग सूचनायें साझा कर सकता है।

भारत में इस दिन लॉन्च हो रहा Samsung का 7,000mAh बैटरी वाला स्मार्टफ़ोन

यूपी: 10.48 लाख मजदूरों के खाते में योगी सरकार ने ट्रांसफर किये 104.82 रूपये !

कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट जानने के लिए WhatsApp ग्रुप को ज्वाइन करें। Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

अब आयकर रिटर्न दाखिल नहीं करने वाले हो जाएं सावधान, बैंक बन गए हैं Income Tax के ‘जासूस’ Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment