Tuesday, September 8, 2020

RBI ने संकटग्रस्त परिसंपत्तियों से संबंधित समाधान का रास्ता साफ किया, 26 क्षेत्रों की पहचान की

RBI announces Rs 50,000 crore special liquidity facility for mutual funds

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कोविड संकट के कारण 26 क्षेत्रों में संकटग्रस्‍त परिसम्‍पत्तियों से संबंधित समाधान के लिए पांच वित्‍तीय अनुपात और क्षेत्र विशेष उपाय निर्दिष्‍ट किए हैं। संकटग्रस्‍त परिसम्‍पत्तियों के समाधान के लिए रिजर्व बैंक(RBI) की जारी विज्ञप्ति के.वी. कामथ समिति की सिफारिशों पर आधारित है। समिति ने 4 सितम्‍बर को रिपोर्ट सौंपी।

रिजर्व बैंक (RBI) से निर्दिष्‍ट 26 क्षेत्रों में ऑटोमोबाइल, बिजली, पर्यटन, सीमेंट, रसायन, रत्‍न और आभूषण, महत्‍वपूर्ण साजो-सामान, खनन, विनिर्माण, आवास और जहाजरानी क्षेत्र शामिल है।

रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा कि निर्धारित अनुपात अलग-अलग मामलों के लिए सीलिंग का काम करेंगे, लेकिन समाधान योजना में ऋण लेने वालों के, कोविड संकट से पहले के रिकॉर्ड और वित्‍तीय प्रदर्शन को ध्‍यान में रखा जाएगा। इसी आधार पर आने वाले वर्षों में भी नकद प्रवाह का आकलन किया जाएगा।

रिजर्व बैंक (RBI) ने यह भी कहा कि कोविड महामारी का विभिन्‍न क्षेत्रों और कं‍पनियों पर अलग-अलग असर पड़ा है। ऋण देने वाली एजेंसिया अपने विवेक से, उधारीकर्ता पर असर की गम्‍भीरता के आधार पर समाधान योजना तय कर सकती हैं।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment