Thursday, October 8, 2020

देखें ,बिहार 10वीं व 12वीं परीक्षा का शेड्यूल जारी, इस दिन से शुरू होगी मैट्रिक का परीक्षा!..

आज एक बार फिर मै जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 का शेड्यूल जारी कर दिया है. इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 2 फरवरी से 13 फरवरी तक होंगी. जबकि मैट्रिक की परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होकर 24 फरवरी तक खत्‍म होंगी.

11 दिन में खत्‍म होंगी 12वीं की परीक्षाएं

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के शेड्यूल के मुताबिक, 2021 में इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 2 फरवरी से शुरू होकर 13 फरवरी को खत्‍म होंगी. यह परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित होंगी. पहली पाली 9.30 से 12.45 तक और दूसरी पाली की परीक्षा 1.45 से 5 बजे तक आयोजित होगी. इस दौरान कला, वाणिज्य, विज्ञान, वोकेशनल और सैद्धान्तिक की परीक्षाएं होंगी.

मैट्रिक की परीक्षा का भी शेड्यूल जारी
इसके साथ बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने मैट्रिक की परीक्षा का भी शेड्यूल जारी कर दिया है. यह परीक्षाएं 17 फरवरी से 24 फरवरी तक दो पालियों में आयोजित होंगी. इसके अलावा मैट्रिक और इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा 20 जनवरी से 22 जनवरी तक आयोजित होंगी.

आपको बता दें कि इस बार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की मैट्रिक परीक्षा 2020 में 80.59 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं. जबकि 2020 की इंटरमीडिएट की परीक्षा में इस बार तीनों संकाय मिलाकर 80.44 फीसदी बच्चे पास हुए हैं. यही नहीं, कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजित करने के इंतजार में बैठे बिहार बोर्ड ने फेल हुए परीक्षार्थी को पास कर दिया है. बोर्ड ने इंटरमीडिएट और मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2020 में एक या दो विषय में फेल स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स (Grace Marks) देकर बहुत बड़ी राहत दी है और परीक्षा का टेंशन दूर कर दी है. बोर्ड की मानें तो छात्र हित में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक परीक्षा 2020 में एक या दो विषयों में फेल वैसे स्टूडेंट्स जो इंटर और मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा 2020 में शामिल हो सकते थे उन्हें एक बार के लिए अपवाद स्वरूप कुछ अतिरिक्त ग्रेस अंक देकर पास कर दिया गया है.

कुल 72,610 स्टूडेंट्स इंटर में और 1,41,677 स्टूडेंट्स मैट्रिक में ग्रेस अंक पा कर पास हुए हैं. इंटर में कुल 1,32,486 स्टूडेंट्स जो फेल थे तथा कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हो सकते थे, उनमें से कुल 72,610 स्टूडेंट्स अतिरिक्त ग्रेस अंक पाकर सफल हुए हैं, जो कुल 54.81 प्रतिशत है वहीं मैट्रिक में कुल 2,08,147 स्टूडेंट्स जो फेल थे तथा कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हो सकते थे, उनमें से कुल 1,41,677 स्टूडेंट्स अतिरिक्त ग्रेस अंक पाकर उत्तीर्ण हुए हैं, जो कुल 68.07 प्रतिशत है.

</>

No comments:

Post a Comment