Saturday, October 3, 2020

देखें, भारत में कोरोना से मौत का आंकड़ा 1 लाख के पार, इन राज्यों में बिछी सबसे अधिक लाशें..

आज एक बार फिर मै कुछ टेक्नोलॉजी से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

देश में कोरोना से मौतों का आंकड़ा आज 1 लाख को पार कर गया।.और ये महज आंकड़ा नहीं है। ये एक लाख सांसें हैं, जो कोरोना ने हमसे छीन लीं। एक ऐसा आंकड़ा, जिसे देश आगे बढ़ता नहीं देखना चाहता। फिर भी यह बढ़ रहा है और बीते 204 दिनों से लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

देश में विदेश के रास्ते कोरोना का पहला मामला 30 जनवरी को आया था। तब से 31 मई यानी लॉकडाउन के आखिरी दिन तक, यानी 122 दिनों में कोरोना के 1.82 लाख मामले सामने आए और 5,405 मौतें हुईं। एक जून से अनलॉक लागू हुआ और अगले 123 दिन यानी आज 2 अक्टूबर तक कोरोना के 61.34 लाख नए मामले सामने आए और 95 हजार मौतें जुड़ गईं।

आंकड़े बताते हैं कि जब तक देश में लॉकडाउन था, हर दिन केस और मौत के आंकड़े कुछ हद तक काबू में थे।
अनलॉक में लापरवाही बढ़ती गई। टीका आने तक हमने मास्क को ही वैक्सीन नहीं माना। कहीं डिस्टेंसिंग नहीं हुई, कहीं कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग नहीं हुई। इससे बीते 123 दिनों में मौत का आंकड़ा बढ़कर एक लाख को पार कर गया। यानी अनलॉक के बाद 1800% तेजी से बढ़ी मौतें।

जब लॉकडाउन खत्म हुआ तो एक दिन में 193 मौतें हो रही थीं

अलग-अलग राज्यों में तेजी से बढ़ते केस के मद्देनजर प्रधानमंत्री की अपील पर 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाया गया। इसके ठीक दो दिन बाद, यानी 25 मार्च को देश में टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया। 68 दिन का लॉकडाउन 31 मई को खत्म हुआ था। अगर सिर्फ 31 मई के आंकड़े पर नजर डालें तो 24 घंटे में देशभर में 8,380 पॉजिटिव केस आए थे। एक दिन में मौत का आंकड़ा 193 था। अब हर दिन कोरोना से एक हजार से ज्यादा मौतें हो रही

कोरोना से मौत की शुरुआत

12 मार्च को देश में कोरोना से पहली मौत हुई थी। 31 मार्च तक देश में कुल मौतों की संख्या 47 थी। मौतों के आंकड़े में सबसे ज्यादा तेजी जुलाई, अगस्त और सितंबर में देखी गई। सितंबर में सबसे ज्यादा 34,565 मौतें हुईं। एक लाख मौतों में इनका प्रतिशत 34.5 फीसदी रहा।

इन राज्यों में सबसे अधिक मौत

राज्यों में मौतों के आंकड़े की बात करें तो सबसे ज्यादा एक लाख में से 37 फीसदी मौतें अकेले महाराष्ट्र में हुई हैं। यहां एक लाख में से मौतों को आंकड़ा 37,056 है। वहीं, तमिलनाडु (9.50%) और कर्नाटक (9%) मौतों के मामले में दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं। सिर्फ इन तीन राज्यों में कोरोना से मौतों का प्रतिशत 55 है।

इन राज्यों में डेथ रेट सबसे अधिक

देश में डेथ रेट के हिसाब से पंजाब (3%) टॉप राज्य है। यहां पहला केस 9 मार्च को आया था। तब से यहां 1,11,375 केस आ चुके हैं। जबकि 3,284 मौतें हो चुकी हैं। वहीं, महाराष्ट्र (2.6%) और गुजरात (2.5%) डेथ रेट के मामले में दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं। देश में नॉर्थ ईस्ट स्टेट मिजाेरम मे कोरोना से एक भी मौत दर्ज नहीं हुई है। इसलिए इस राज्य में डेथ रेट 0% है।

Tags: Corona

</>

No comments:

Post a Comment