Saturday, October 24, 2020

ठंडी से पहले सूखे मेवे के दाम में भारी गिरावट, 40% तक दाम हुए कम

अक्सर ठंडी आते ही काजू, बादाम और किशमिश महंगे हो जाते हैं, लेकिन इस बार इस सीजन में ड्राई फ्रूट्स सस्ते हो गए हैं। देश में कोरोना संकट के बाद लॉकडाउन के बाद से मेवों के दाम गिरावट जारी है। असल में इसकी सबसे बड़ी वजह बाजार में मेवों की मांग न होना है। आमतौर पर त्योहारों पर ड्राई फ्रूट्स की डिमांड बढ़ती है, लेकिन इस बार नवरात्री, दशहरा और दिवाली के मौसम में भी ग्राहक दुकानों से दूर हैं।

साल की शुरुआत से ही गिर दाम

सूत्रों के मुताबिक इस साल जनवरी से अक्टूबर के बीच ड्राई फ्रूट्स की कीमतों में लगातार गिरावट का रुख है और कीमतें काफी घटी हैं।

काजू और किशमिश सस्ते हुए

जनवरी में जो काजू 800 रुपये प्रति किलो बिक रहा था, वह अक्टूबर में घटकर 650 रुपये के करीब हैं।
इसी तरह किशमिश की कीमत भी 240 रुपये प्रति किलो से घटकर 220 रुपये हो गई है।

छुहारा के दाम भी घटे

छुहारा भी जनवरी के 300 रुपये प्रतिकिलो से घटकर अक्टूबर में 280 रुपये पर आ चुका है। हालांकि अंजीर की कीमत बढ़ी है। यह फिलहाल 750 रुपये से बढ़कर 800 रुपये प्रति किलोग्राम हो चुके हैं।

अखरोट और बादाम की कीमत गिरी

अखरोट जनवरी में 850 रुपये के करीब बिक रहा था जो अक्टूबर में घटकर 600 रुपये प्रतिकिलो पर आ गया है। बादाम भी जनवरी में 650 रुपये बिक रहा था जो अक्टूबर में 590 रुपये पर आ गया है।

छोटी इलायची के तेवर नरम

जनवरी मेंल छोटी इलायची की कीमत 5000 रुपये प्रतिकिलो थी, जो अक्टूबर में घटकर 3000 रुपये प्रति किलो पर आ गई है। माना जा रहा है कि आने वाले समय में कोरोना की वजह से और गिरावट आ सकती है। ( Khabar Arena )

</>

No comments:

Post a Comment