Sunday, October 4, 2020

कल से इस राज्य में खुलेंगे होटल-रेस्टुरेंट और बार, सरकार ने जारी की गाइडलाइन

होटल-रेस्टोरेंट व बार खुलने के लिए सरकार ने दिशा-निर्देश ( एसओपी ) जारी कर दिए हैं, जिसके अनुसार, होटल-रेस्टोरेंट व बार में प्रवेश करते समय मुंह पर मास्क लगाना अनिवार्य होगा। बिना स्क्रीनिंग के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। साथ ही कुल क्षमता के सिर्फ 50 प्रतिशत ही खोले जा सकेंगे। एसओपी का विविध होटल-रेस्टोरेंट व बार संगठनों ने स्वागत किया है। आहार के अध्यक्ष शिवानंद शेट्टी का कहना है कि उनकी संस्था ने सरकार को जो सुझाव दिए थे, उसे दिशा-निर्देश में शामिल किया गया है।

गौरतलब है कि सरकार ने 5 अक्टूबर से राज्य में होटल-रेस्टोरेंट व बार खोलने की अनुमति दी थी, लेकिन दिशा-निर्देश जारी नहीं किए थे।
शनिवार को सरकार ने दिशा-निर्देश में साफ किया है कि जो भी अपना होटल-रेस्टोरेंट व बार खोलेगा उसे कोरोना संक्रमण की रोकथाम व सुरक्षा से जुड़े नियमों का पालन करना होगा। अपनी कुल क्षमता के 50 प्रतिशत तक ही खोल सकेंगे। वहां आने वाले ग्राहकों और सेवा देने वाले कर्मचारियों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना होगा। ग्राहकों के शरीर का तापमान, सर्दी व खांसी के लक्षणों की जांच की जाएगी, जिसके शरीर का तापमान सामान्य होगा और जिसे सर्दी-खासी-बुखार नहीं होगा, उन्हें ही प्रवेश दिया जाएगा।

यह कहा गया है दिशा-निर्देश में
-प्रवेश द्वार पर हैंड सैनिटाइजर रखना होगा। रेस्टोरेंट के काउंटर पर प्लेक्सि ग्लास स्क्रीन लगानी होगी।
&#8211 प्रवेश द्वार पर ग्राहकों की स्क्रीनिंग जरूरी, जिसे सर्दी, खांसी या बुखार होगा उसे प्रवेश नहीं मिलेगा।
&#8211 ग्राहकों को मास्क पहनना आवश्यक होगा। खाते समय मास्क निकालने की छूट होगी।
&#8211 सेवा देने वाले कर्मी की नियमित स्वास्थ्य जांच होगी। उन्हें भी मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
&#8211 बेहतर होगा कि पैसे का लेन-देन डिजिटल माध्यम से करें। नकदी को संभालने के दौरान जरूरी सतर्कता बरतनी होगी।
-रेस्टोरेंट ग्राहकों की सहमति के साथ कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के लिए सरकारी अधिकारियों को जानकारी उपलब्ध करानी होगी।
&#8211 रेस्टोरेंट में प्रतीक्षा के दौरान सामाजिक दूरी का पालन करना होगा।

रौनक लौटने में लगेगा समय
राज्य के विविध होटल संगठनों ने सरकार के निर्णय का स्वागत किया है। साथ ही विविध संगठनों को इस बात का डर है कि सभी होटल-रेस्टोरेंट व बार एक साथ नहीं खुल सकेंगे, क्योंकि ज्यादातर उनके कर्मचारी गांव चले गए हैं। ट्रेन का रिजर्वेशन एक-एक महीना तक नहीं मिल रहा है। हालांकि, कुछ लोगों ने अपने कर्मचारियों को बुलाने के लिए फ्लाइट का टिकट भेजा है या फिर भेज रहे हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि शुरूआत में कुछ दिक्कत जरूर आएंगी, लेकिन हम लोग उसे हल कर लेंगे।

</>

No comments:

Post a Comment