Monday, October 12, 2020

कोरोना से मृत सैकड़ों शवों का कराया अंतिम संस्कार, संक्रमण की चपेट में आकर एंबुलेंस ड्राइवर की गई जान!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

नई दिल्ली। कोरोना बीमारी का नाम सुनते ही लोगों की रूह कांप जाती है। अगर कोई अपना भी इसकी चपेट में आ जाए तो लोग उससे दूरी बनाने लगते हैं। ऐसा कई मामला सामने आ चुका है। हालांकि, इन सबके बीच एक ऐसा शख्स रहा, जिसने करीब 100 से ज्यादा कोरोना संक्रमण से मृत शवों का अंतिम संस्कार कराया है। ऐसे भी कई कोरोना वॉरियर्स हैं, जो दूसरों को बचाते-बचाते खुद इस बीमारी का शिकार हो गए। ऐसे ही एक कोरोना वॉरियर थे, आरिफ खान।

पढ़ें :- कोरोना का कहर: देश में 24 घंटे में मिले 70,496 नए केस, 964 मरीजों की मौत

दिल्ली के सीलमपुर इलाके के रहने वाले आरिफ खान की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई।
वह एक एंबुलेंस ड्राइवर के तौर पर कोरोना संक्रमित लोगों की मदद करते थे। उनके निधन पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शोक व्यक्त किया है। उपराष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा, &#8216कोविड महामारी के विरुद्ध अभियान के समर्पित योद्धा दिल्ली के श्री आरिफ खान की मृत्यु के समाचार से दुखी हूं।

महामारी के दिनों में अपनी एंबुलेंस से आपने मृतकों की सम्मानपूर्वक अंत्येष्टि में सहायता की। ऐसे समर्पित नागरिक की मृत्यु समाज के लिए क्षति है।&#8217 बता दें कि, एंबुलेंस ड्राइवर आरिफ खान ने अपनी जान की परवाह किए बगैर 200 से ज्यादा कोरोना मरीजों को समय पर अस्पताल पहुंचाया।

इसके अलावा आरिफ ने समाज सेवा का भाव प्रकट करते हुए 100 से अधिक शवों को अंत्येष्टि के लिए श्मशान घाट पहुंचाया और उनका दाह संस्कार किया। इस दौरान वह खुद भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए। दिल्ली के हिंदूराव अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था, जहां शनिवार सुबह उनका निधन हो गया।

पढ़ें :- देश में कोरोना का आंकड़ा 68 लाख के पार, 24 घंटे में मिले 78,524 नए मरीज

</>

No comments:

Post a Comment