Monday, October 19, 2020

दुर्गा माता का ये मंदिर है शापित, दर्शन के लिए नहीं आता कोई भी भक्त !

नवरात्रि हिंदुओं का एक प्रमुख पर्व है। नवरात्रि शब्द एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इस बार शारदीय नवरात्रि पर्व 17 अक्टूबर से प्रारंभ हो रहे है जो की 25 अक्टूबर तक चलेंगे।

इस दौरान माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। माँ दुर्गा के नौ रूप इस प्रकार हैं-माँ शैलपुत्री, माँ ब्रह्मचारिणी, माँ चंद्रघंटा, माँ कूष्माण्डा, माँ स्कंदमाता, माँ कात्यायनी, माँ कालरात्रि, माँ महागौरी, और माँ सिद्धिदात्री।

इस दौरान कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से नवरात्रि के समय भीड़ काम होगी । हर साल की तरह इस बार मंदिरों में अधिक भीड़ नहीं है। आज हम आपको मां दुर्गा के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताएंगे जो शापित है। मां के इस मंदिर में भक्त दर्शन करने से कतराते हैं।

मध्यप्रदेश के देवास जिले में स्थित है ये मंदिर। इस मंदिर में लोग दर्शन के लिए नहीं जाते हैं। स्थानीय लोगों की मान्यता है कि मां दुर्गा के इस मंदिर में बलि चढ़ाना जरूरी है। कुछ लोगों का ये भी मानना है कि मां के इस मंदिर में किसी औरत की आत्मा भटकती है।

मंदिर का निर्माण देवास

मां के इस मंदिर का निर्माण देवास के महाराज ने करवाया था। मंदिर के निर्माण के बाद राजघराने में कोई न कोई अशुभ घटना होती रहती थी। इसी दौरान सेनापती और राजकुमारी के बीच प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। राजा नहीं चाहता था कि उसकी बेटी की शादी किसी सेनापति से हो। राजा ने अपनी बेटी को बंधक बना लिया और इसी दौरान राजकुमारी की मौत हो गई।

सेनापति ने इस मंदिर में की थी आत्महत्या

राजकुमारी की मौत की खबर सुनकर सेनापति ने इस मंदिर में आत्महत्या कर ली। सेनापति की आत्महत्या के बाद राजपुरोहित ने राजा को बताया कि यह मंदिर अब अपवित्र हो गया है और यहां पूजा करने का कोई लाभ नहीं होगा।

गणेश मंदिर

पुरोहित ने राजा से ये भी कहा कि मां में स्थापित मां दुर्गा प्रतिमा को इस मंदिर से हटाकर कहीं और प्रतिष्ठित करना होगा। तब राजा ने तुरंत मां दुर्गा की प्रतिमा को उज्जैन के गणेश मंदिर में स्थापित करा दिया। इसके बाद भी मंदिर में अशुभ घटनाएं घटित होती रहती थी। मंदिर को तब से लेकर आज तक शापित माना जाता है।

Navratri 2020: आज है नवरात्रि का पहला दिन, मां शैलपुत्री के पूजन के लिए ऐसे करें घट स्थापना

जानिए गुरुवार के दिन पीले कपड़े पहनना क्यों होता है शुभ?

कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट जानने के लिए WhatsApp ग्रुप को ज्वाइन करें। Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

दुर्गा माता का ये मंदिर है शापित, दर्शन के लिए नहीं आता कोई भी भक्त ! Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment