Friday, October 30, 2020

मायावती का बड़ा ऐलान, कहा-सपा को हराने के लिए भाजपा का साथ देना पड़े तो देंगे!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव से पहले यहां की राजनीतिक फिजा बदल गयी है। बसपा के सात बागी विधायकों को मायावती ने पार्टी से निलंबित कर दिया है। वहीं, इस दौरान उन्होंने माना की लोकसभा चुनाव में सपा के साथ गठबधंन करना उनकी भूल थी। वहीं, गुरुवार को मायावती ने स्पष्ट कहा है कि राज्यसभा चुनावों में हम सपा प्रत्याशियों को बुरी तरह हराएंगे।

पढ़ें :- टॉयलेट को सपा के रंग से रंगने पर भड़के सपाई, कहा-लोकतंत्र को कलंकित करने वाली शर्मनाक घटना

इसके लिए हम अपनी पूरी ताकत झोंक देंगे। इसके लिए अगर हमें भाजपा या किसी अन्य पार्टी के प्रत्याशी को अपना वोट देना पड़े तो हम वो भी करेंगे।
मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद सपा ने हमसे संपर्क बंद कर दिया और इसलिए हमने अपना रास्ता बदल लिया।

उन्होंने कहा कि मैं इस बात का भी खुलासा करना चाहती हूं कि जब हमने यूपी में लोकसभा चुनाव के लिए सपा के साथ चुनाव लड़ने का फैसला किया तो हमने इसके लिए बहुत मेहनत की, लेकिन जब से यह गठबंधन हुआ था तब से सपा प्रमुख की मंशा दिखने लगी थी।

वो एसपी मिश्रा से लगातार यह कहते रहे कि चूंकि बसपा-सपा ने हाथ मिला लिया है, इसलिए अब मायावती को जून 1995 वाला मुकदमा वापस ले लेना चाहिए। जब हमने लोकसभा चुनाव के परिणामों के बाद हमारे प्रति समाजवादी पार्टी के बदले व्यवहार को देखा तो महसूस किया कि हमने उनके खिलाफ 2 जून 1995 के मुकदमे को वापस लेकर एक बड़ी गलती की है और हमें उनसे हाथ नहीं मिलाना चाहिए था। हमें थोड़ी गहराई से विचार करना चाहिए था।

पढ़ें :- बिहार चुनाव प्रचार के लिए जा रहे मनोज तिवारी के हेलिकॉप्टर में आई तकनीकी खामी, बाल-बाल बचे

</>

No comments:

Post a Comment