Monday, November 9, 2020

SRH को क्वालीफायर-2 में मिली हार, कप्तान वॉर्नर ने इन्हें ठहराया जिम्मेदार

पूर्व चैंपियन सनराइजर्स हैदराबाद को आईपीएल के दूसरे क्वॉलिफायर में दिल्ली कैपिटल्स से हार के साथ लीग से बाहर होना पड़ा। हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर ने टीम की फील्डिंग को देखकर स्वीकार किया कि इस तरह के लचर प्रदर्शन से वे टूर्नमेंट जीतने के हकदार नहीं थे। उन्होंने साथ ही कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में उन्हें अपने अभियान पर गर्व है।

अबु धाबी के शेख जायेद स्टेडियम में खेले गए क्वॉलिफायर-2 मुकाबले में दिल्ली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन विकेट पर 189 रन बनाए और फिर सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट पर 172 रन पर रोक दिया। दिल्ली के लिए ओपनर शिखर धवन ने सर्वाधिक 78 रन बनाए। उनके अलावा शिमरोन हेटमायर ने नाबाद 42 रन की पारी खेली।

190 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद के केन विलियमसन ने 67 रन बनाए लेकिन दिल्ली की घातक गेंदबाजी के आगे वह 8 विकेट खो बैठी। कागिसो रबाडा ने सर्वाधिक 4 विकेट झटके जबकि मैन ऑफ द मैच रहे स्टॉयनिस ने 3 विकेट लिए। अब दिल्ली की फाइनल में मुंबई इंडियंस से भिड़ंत होगी।

वॉर्नर ने सनराइजर्स की 17 रन से हार के बाद कहा, ‘अगर आप कैच छोड़ते हो और मौके गंवाते हो तो फिर जीत हासिल नहीं कर सकते हो। मुझे लगता है कि गेंदबाजी और बल्लेबाजी में खराब शुरुआत के बाद हमने वापसी की लेकिन फील्डिंग में हमारा रवैया हार का कारण बना।’

दिल्ली के दोनों सलामी बल्लेबाजों मार्कस स्टॉयनिस और शिखर धवन के कैच छूटे जबकि कुछ आसान रन भी दिए गए। वॉर्नर ने हालांकि आईपीएल में अपने अभियान पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि तीसरे स्थान पर रहना उनकी टीम के लिए गर्व की बात है क्योंकि किसी ने भी यह अनुमान नहीं लगाया था कि उनकी टीम यहां तक पहुंचेगी।

उन्होंने कहा, ‘पहली बात तो यह है कि हमें शुरू में किसी ने दावेदार नहीं बताया था। हर कोई मुंबई इंडियंस, दिल्ली और आरसीबी की बात कर रहा था। मुझे अपने अभियान पर वास्तव में गर्व है। खिलाड़ियों की चोट भी मसला रही लेकिन आपको इसके साथ आगे बढ़ना होता है। आज हम जहां हैं उस पर मुझे गर्व है।’

No comments:

Post a Comment